राजस्थान अस्पताल के फिजियोथैरेपिस्ट डॉ अरुण शर्मा ने बचाई गंभीर बीमारी से ग्रस्त मरीज की जान,,

290

जयपुर 16 जनवरी 2022।(निक चिकित्सा) फिजियोथेरेपी एक ऐसी चिकित्सा है जिससे गंभीर रोगियों की जान को भी बचाया जा सकता है इसका उदाहरण राजस्थान अस्पताल में प्रस्तुत किया यहाँ के भौतिक चिकित्सक डॉ अरुण शर्मा ने, गहन चिकित्सा इकाई में भर्ती मरीज जो की वेंटिलेटर एवं ECMO मशीन पर था और एक फेफड़ा कोलेप्स हो गया जिससे उसकी जान पर बन आयी फिजियोथेरेपी की तकनीक से मरीज का कफ साफ करके वापस पुनः जीवित करने का काम किया है।

मरीज कई दिनों तक गहन चिकित्सा इकाई में रहने की वजह से शरीर में बहुत दुर्बलता आ गयी जिसे फिजियोथेरेपी टीम ने और हॉस्पिटल की डॉक्टर टीम की मेहनत से अपने पेरो से चला कर 20 दिन बाद घर एक नया जीवन देकर भेजा