जयपुर ग्रामीण पुलिस की ऑपरेशन हाईवे के तहत 115 वीं बड़ी कार्यवाही डीएसटी टीम ने नशे की दवाईयों की बड़ी खेप पकड़ी विभिन्न ब्राण्ड के 686 साईकोट्रोपिक (नशीले) कैप्सूल व टेबलेट्स जप्त,,,

448

जयपुर/शाहपुरा 14 मार्च 2021।(निक क्राइम) शक्तिवर्धक तथा गर्भपात में प्रयुक्त होने वाली दवाओं सहित विभिन्न श्रेणियों की चिकिल्सकीय परामर्श के बिना विक्रय हेतू प्रतिबंधित दवाईयाँ की करीब 25,000 से अधिक टेबलेट व कैप्सूल जप्त जप्त दवाओं में काफी संख्या में एक्सपाईरी डेट वाली दवाईयां भी शामिल हैं।

जिला पुलिस अधीक्षक जयपुर ग्रामीण श्री शंकर दत शर्मा (I.P.S.) ने जयपुर ग्रामीण ने आज जानकारी देते हुये बताया कि जयपुर ग्रामीण पुलिस द्वारा जिले में होने वाले अपराधों की रोकथाम के लिये “ऑपरेशन हाईवे” चलाया जा रहा है। अभियान के अन्तर्गत नशे के बढते हुये अपराध को देखते हुये श्रीमान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोटपूतली श्री रामकुमार कस्वा (R.P.S.) व वृत्ताधिकारी शाहपुरा शिप्रा राजावत (R.P.S.) के निर्देशन में व डीएसटी टीम तथा याना पुलिस द्वारा संयुक्त कार्यवाही करते हुये अवैध नशीली दवाओं तथा विभिन्न श्रेणी की प्रतिबंधित दवाओं की बड़ी खेप जप्त की गयी है।

डीएसटी को यह सूचना प्राप्त हुयी कि शाहपुरा कस्बे में जयपुर तिराहे के पास अवैध मादक दवाओं तथा अन्य प्रतिबंधित दवाओं का भण्डारण किया जा रहा है तथा इन दवाओं को चौरी छीपे बेचा जाकर लोगों को नशे का शिकार बनाया जा रहा है। टीम द्वारा मुखबीर तंत्र से संकलित आसूचनाओं के विश्वेशण के पश्चात श्री दिनेश कुमार (R.P.S.) प्रभारी डीएसटी मय डीएसटी टीम तथा थानाधिकारी शाहपुरा श्री विजेन्द्र सिंह पुनि. मय टीम व औषधि नियंत्रण अधिकारी टीम द्वारा संयुक्त कार्यवाही करते हुये थाना शाहपुरा इलाके में कस्बा शाहपुरा में जयपुर तिराहा के पास बने एक मकान के कमरे से बिभिन्न ब्राण्ड की नशीली दवाईयों के 686 कैप्सूल व टेबलेट बरामद हुये तथा विभिन्न श्रेणियों की प्रतिबंधित दवाओं के करीब 25,000 से अधिक कैप्सूल व टैबलेट्स का जखीरा बरामद हुआ, जिस पर पृथक से औषध नियंत्रण विभाग की टीम द्वारा भी जप्त की कार्यवाही की गयी। नशीली दवाओं को जप्त कर एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया तथा अन्य प्रतिबंधित तथा बिना लाइसेंसी दवाओं को औषध नियंत्रण विभाग द्वारा जप्त किया गया है। जप्त दवाओं में से काफी संख्या ऐसी दवाओं की है जिसकी एक्सपाईरी डेट भी निकल चुकी है। इन दवाओं में शक्तिवर्धक दवाएं, दर्द निवारक दवाएं तथा गर्भपात में प्रयुक्त होने वाली दवाएं शामिल हैं । उक्त कारोबार का मुख्य सरगना संजीव कुमार शर्मा मौके से फरार है,जिसकी तलाश जारी है।