सेवानिवृत्त रोडवेज कर्मचारियों ने रोडवेज मुख्यालय पर ज़बरदस्त प्रदर्शन किया,,

410

जयपुर-16 अगस्त 2022।(निक रोडवेज) रोडवेज के सेवानिवृत्त कर्मचारियों के दोनों संगठनों-आरएसआरटीसी रिटायर्ड एम्पलाईज एसोसिएशन एवं राजस्थान रोडवेज सेवानिवृत्त कर्मचारी कल्याण समिति के संयुक्त नेतृत्व में आठ माह से बकाया सेवानिवृत्ति परिलाभों के भुगतान और दो माह से बकाया पेंशन के भुगतान की माँग को लेकर सेवानिवृत्त रोडवेज कर्मचारियों ने मंगलवार,16 अगस्त 2022 को दोपहर 01 बजे से दो बजे तक जयपुर में रोडवेज मुख्यालय पर ज़बरदस्त प्रदर्शन किया ।

लगातार बारिश के बावजूद लगभग पाँच सौ सेवानिवृत्त कर्मचारियों ने मुख्यालय के पीछे स्थित जयपुर आगार के सामने से रोडवेज मुख्यालय तक रैली निकाली और मुख्यालय द्वार पर आमसभा आयोजित करके अपने आक्रोश का इज़हार किया ।
*मुख्यालय द्वार पर प्रदर्शन कारियों को संबोधित करते हुए आरएसआरटीसी रिटायर्ड एम्पलाईज एसोसिएशन के महासचिव हरगोविन्द शर्मा ने कहा कि रोडवेज में सेवानिवृत्त कर्मचारियों के प्रति लगातार भेदभाव पूर्ण व्यवहार किया जाता रहा है,जिसके कारण एक ओर जहां दिसम्बर 2021 से आठ माह का सेवानिवृत्ति परिलाभों का भुगतान नहीं किया गया है वहीं दूसरी ओर जून माह से पेंशन का भुगतान नहीं किया गया है ।शर्मा ने माँग की कि राज्य सरकार से बजटीय प्रावधान के विरूद्ध स्वीकृत 40 करोड़ रुपए में से जून की पेंशन एवं यथा संभव अधिकतम बकाया सेवानिवृत्ति परिलाभों का भुगतान किया जाए ।
*राजस्थान रोडवेज सेवानिवृत्त कर्मचारी कल्याण समिति के महासचिव शुभ करण आढा ने अपने संबोधन में कहा कि हर माह के पहले कार्य दिवस को वेतन,पेंशन एवं एक माह के सेवानिवृत्ति परिलाभों का भुगतान किया जाए ।प्रदर्शनकारियों को एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष आनंद चौधरी और कल्याण समिति के कार्यकारी अध्यक्ष गोविन्द पिल्लई सहित अन्य वक्ताओं ने भी संबोधित करते हुए संयुक्त एकताबद्ध संघर्ष की आवश्यकता जताई ।

    प्रदर्शन के बाद दोनों संगठनों के चार सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल की रोडवेज की वित्तीय सलाहकार से वार्ता हुई,जिसमें वित्तीय सलाहकार ने राज्य सरकार से फंड प्राप्त होते ही जून माह की पेंशन एवं दिसम्बर 2021 के सेवानिवृत्ति परिलाभों का भुगतान कर देने का आश्वासन दिया ।*
    *आरएसआरटीसी रिटायर्ड एम्पलाईज एसोसिएशन के महासचिव हरगोविन्द शर्मा ने कहा कि सारी स्थितियों पर विचार करके व्यापक आंदोलन की रूपरेखा तैयार करने के लिए 17 अगस्त को रोडवेज के श्रमिक संगठनों के संयुक्त मोर्चा की बैठक बुलाई गई है ।