9 सिटी रोड शो टूर द्वारा महाराष्ट्र टूरिज़्म का उद्देश्य देश में ट्रैवल और ट्रेड के अवसरों को बढ़ाना है,,9 सिटी रोड शो टूर द्वारा पर्यटन उद्योग को पुनर्जीवित करने में मदद करने के लिए महाराष्ट्र सरकार आगे आई; जयपुर से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली,,

65

जयपुर, 12 मार्च, 2022ः।(निक वाणिज्य) महाराष्ट्र अपने ऐतिहासिक किलों, खूबसूरत बीच, धार्मिक और विरासतपूर्ण स्मारकों, हिल स्टेशंस, वन्य जीवन, एडवेंचर स्पोटर््स, विदेशी रसोई, सांस्कृतिक आयोजनों, परिवहन की कनेक्टिविटी आदि के लिए पसंदीदा पर्यटन स्थलों में से एक है। महाराष्ट्र टूरिज़्म ने असीम अवसरों का सृजन करने, ग्राहकों की राय लेने और ट्रैवल ट्रेड से जुड़कर बाजार की संभावनाएं तलाशने के लिए के लिए एक 9सिटी रोड शो टूर शुरू किया है। इस अभियान के तहत महाराष्ट्र टूरिज़्म ने अपना रोड शो 11 मार्च को जयपुर के लॉर्ड्स प्लाजा -जयपुर में किया गया और इसमें शहर में टूर एंड ट्रैवल जगत के गणमान्य लोगों ने हिस्सा लिया।

मिलिंद बोरिकर (आईएएस), डायरेक्टर ऑफ डायरेक्टोरेट ऑफ टूरिज़्म, महाराष्ट्र सरकार ने कहा, ‘‘महाराष्ट्र टूरिज़्म में हम रोड शो की श्रृंखला का आयोजन कर रहे हैं, जिसका मुख्य उद्देश्य महाराष्ट्र में टूरिज़्म उद्योग और इंटर-स्टेट ट्रैवल एवं टूरिज़्म के अवसरों को बढ़ाना है। हमें खुशी है कि कोविड की दूसरी लहर के बाद, महाराष्ट्र में हॉस्पिटलिटी सेक्टर में स्थिर गति से सुधार हो रहा है और ट्रैवल कंपनियों द्वारा बुकिंग बढ़ रही है। जयपुर में महाराष्ट्र टूरिज़्म रोड शो को मिली इतनी शानदार प्रतिक्रिया बहुत उत्साहवर्धक है। हम अन्य शहरों में भी ऐसी ही प्रतिक्रिया की उम्मीद कर रहे हैं।’’
महाराष्ट्र में टूरिज़्म के हर सेगमेंट में अपार क्षमता है, जिससे पर्यटकों को घूमने के लिए असीम संभावनाएं मिलती हैं। इसके साथ ही महाराष्ट्र राज्य पर्यटकों को बेहतरीन कनेक्टिविटी प्रदान करता है। यह राज्य सड़क, रेलवे, जलमार्ग, एवं एयरवे से अच्छी तरह कनेक्टेड है। साथ ही महाराष्ट्र में घरेलू एवं अंतर्राष्ट्रीय पर्यटकों के ठहरने के लिए भी विशाल क्षमता है। एक लोकप्रिय ऑनलाईन सर्च इंजन से मिली जानकारी के मुताबिक मुंबई, शिरडी, लोनावाला, महाबलेश्वर- पंचगनी, अजंता एवं एलोरा गुफाएं, तरकली, तडोबा नेशनल पार्क, गणपतिपुले, कमशेत, इगतपुरी, नागपुर, नासिक, करजत, अलीबाग, चिखलदरा, भंडरडारा महाराष्ट्र के लोकप्रिय ट्रैवल डेस्टिनेशन हैं। महाराष्ट्र टूरिज़्म राज्य में एग्रो टूरिज़्म नीति, बीच शैक नीति, कारवां नीति एवं एडवेंचर टूरिज़्म पॉलिसी जैसे खास टूरिज़्म सेगमेंट्स को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न नीतियां प्रस्तुत करता है। इन नीतियों को पर्यटकों के बदलते ट्रैवल पैटर्न और कंज़्यूमर व्यवहार को ध्यान में रखकर बनाया गया है। मिलेनियल ज्यादा अनुभव आधारित ट्रैवल, जैसे एडवेंचर टूरिज़्म और कम्युनिटी बेस्ड टूरिज़्म के अवसर तलाश रहे हैं।

    यह कार्यक्रम प्रमुख वित्तीय केंद्रों में भी ले जाया जाएगा और लखनऊ और बैंगलोर में 21 मार्च, दिल्ली और हैदराबाद में 23 मार्च, चंडीगढ़ और कोच्चि में 25 मार्च को पहुंचेगा। इन रोड शो द्वारा उद्यमियों को बड़ी संख्या में संभावित लीड्स मिलेंगी, जो नेटवर्किंग, ब्रांड के विस्तार, सेल्स की बातचीत एवं सामान्य एंड-यूज़र सेल्स के लिए महत्वपूर्ण हैं।
    महाराष्ट्र टूरिज़्म के बारे मेंः
    महाराष्ट्र टूरिज़्म की फ्लैगशिप बॉडी, डायरेक्टोरेट ऑफ टूरिज़्म राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न पर्यटन योजनाओं, प्रमोशंस एवं प्रचार-प्रसार का क्रियान्वयन करती है। डायरेक्टोरेट ऑफ टूरिज़्म, महाराष्ट्र सरकार की शुरुआत के बाद यह राज्य कई मानक बना चुका है और अनेक अभियानों की मदद से इसे अनेक उपलब्धियां हासिल हुई हैं।