अंर्तकलह और मुख्यमंत्री पद की महत्वकांक्षा के साथ क्या चुनाव जीत पाएंगे गहलोत ?

159

जयपुर । 2020 में पायलट और गहलोत के बीच का विवाद सामने आया था। हालात कुछ ऐसे थे कि गहलोत को अपने विधायकों को 34 दिनों तक होटल में रखना पड़ा था। हालांकि आलाकमान के दखल के बाद विवाद शांत हुआ था और सूबे में गहलोत सरकार बच गई थी। लेकिन इसके बाद भी लगातार दोनों नेता इशारों-इशारों में एक दूसरे के खिलाफ तल्ख बयान देते हुए राजनीतिक सरगर्मियां बढ़ाते रहे थे। लेकिन प्रदेश की जनता को भी इसका नुकसान उठाना पड़ा। अब विधानसभा चुनाव के दौरान दोनों नेता एक होने का दावा कर रहे हैं। लेकिन दोनों के बीच तल्खियां अभी भी कम नहीं हो रही हैं। सार्वजनिक तौर पर दोनों एक दूसरे से आमना सामना कम कर रहे हैं वहीं, अप्रत्यक्ष रूप से एक दूसरे पर हमला कर रहे हैं। गहलोत ने पायलट पर हमले करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। उन्हें सार्वजनिक मंच हो या मीडिया के सामने निकम्मा तक कह डाला। हालांकि इसका पायलट ने जवाबी हमला नहीं किया। उन्होंने मुख्यमंत्री पद को लेकर भी अपनी महत्वकांक्षा नहीं छोड़ी। कहीं न कहीं उन्होंने आलाकमान को भी नाराज किया।

उन्होंने यह तक कह डाला कि मैं मुख्यमंत्री पद छोडना चाहता हूं, लेकिन मुख्यमंत्री पद मुझे छोड़ना नहीं चाहता। अब चुनावी मौसम में पायलट और गहलोत की अंर्तकलह एक बार फिर खुलकर सामने आई है। जिसमें उन्होंने हाल ही में पत्रकारों के एक सवाल के जवाब में गहलोत का नाम लिए बिना हमला करते हुए कहा कि किसी के कहने से कोई मुख्यमंत्री नहीं बन जाता है। जनता के बीच खुलकर सामने आ चुकी अंर्तकलह ओर गुटबाजी और मुख्यमंत्री पद की महत्वकांक्षा इस तरह खुलेआम जाहिर करना क्या उनके लिए चुनौती बनती जा रही है। क्या चुनाव में अंर्तकलह ओर फिर मुख्यमंत्री बनने की इच्छा जाहिर कर वह चुनाव जीत पाएंगे। इसका जवाब अब चुनाव के नतीजो कें बाद ही मिलेगा।
पार्टी में दिख रहा दबदबा

    अशोक गहलोत ने आलकमान को भी साधा है, इस वजह से पार्टी में कहीं न कहीं अब भी अशोक गहलोत का ही दबदबा नजर आ रहा है। जिसका अंदाजा कांग्रेस की टिकट लिस्टों से लगाया जा सकता है। हालांकि पहली लिस्ट में पायलट के समर्थित विधायकों को बंपर टिकट मिले। लेकिन ज्यादातर अशोक गहलोत के भरोसेमंद नेताओं को टिकट मिले हैं। हालांकि पायलट खेमे के प्रत्याशी भी टिकट लिस्ट में शामिल हैं लेकिन यह गहलोत के मुकाबले बहुत कम है। सभी लिस्टों में गहलोत कैंप टिकट बंटवारे में हावी नजर आ रहा है।

    आज की रिपोर्ट
    12 लाख 20 हजार से अधिक Readers/ Viewers

    आपके विश्वास के लिए बहुत आभार
    Sunny Atrey editor
    Mobile 8107068124