पूर्व डीजीपी राजेन्द्र शेखर अब नहीं रहे, सोमवार रात 10.30 में ली अंतिम सांस,

1008

जयपुर 24जनवरी 2823।(निक विशेष) पूर्व डीजीपी राजेन्द्र शेखर का आज दिनांक 23.1.23 को रात 10:30 पर सोनी अस्पताल,जे एल एन रोड जयपुर में निधन हो गया है। शेखर पिछले 5 दिनों से आईसीयू में भर्ती थे।
परिजनों के अनुसार अंतिम संस्कार मंगलवार को अपरान्ह 3 बजे आदर्श नगर शमशान में किया जायेगा। शोक सभा 25 जनवरी को सांय 4 से 5 बजे तक अणुविभा मालवीय नगर में होगी।
राजेंद्र शेखर ने दिल्ली के सेंट स्टीफंस कॉलेज से अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर की पढ़ाई पूरी की।

उन्हें 1957 में भारतीय पुलिस सेवा (राजस्थान कैडर) के लिए चुना गया था। एक अधिकारी के रूप में, उन्हें एक कैडर में सीखने और सेवा करने का दुर्लभ अवसर मिला था, जो आईपीएस प्रोबेशनर्स द्वारा सबसे अधिक मांग वाला था।

    उन्होंने विभिन्न जिलों के एक एसपी के रूप में गुणवत्तापूर्ण ‘फील्ड वर्क’ सीखा और पुलिस मुख्यालय में उच्च पदों पर प्रशासनिक कार्य किया।
    7 अक्टूबर 1934 को जन्में राजेंद्र शेखर 1972 में एसपी (जयपुर शाखा) के रूप में केंद्रीय जांच ब्यूरो में प्रतिनियुक्ति पर आए और 1975 में वह सीबीआई के उप महानिरीक्षक (DIG) के रूप में दिल्ली गए। उन्होंने लगभग 14 वर्षों तक विभिन्न क्षमताओं में सीबीआई में काम किया और उन्हें अपराध और भ्रष्टाचार के महत्वपूर्ण मामलों की निगरानी करने का दुर्लभ अवसर मिला।
    उन्हें क्रमशः सीबीआई निदेशक और राजस्थान राज्य के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) के रूप में दोनों संस्थानों का नेतृत्व करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ।
    उन्होंने नॉट ए लाइसेंस टू किल (कोणार्क पब्लिशर्स, दिल्ली), डिफाइनिंग मोमेंट्स (रूपा एंड कंपनी दिल्ली) और पल-कल आज और कल (प्रभात प्रकाशन, दिल्ली) भी प्रकाशित किए हैं।