गृहस्थ धर्म सर्वश्रेष्ठ धर्म – चैतन्य मीरा, श्रीमद्भागवत कथा वाचन,,

39

जयपुर 17 अगस्त2022।(निक धार्मिक) सर्वश्रेष्ठ धर्म गृहस्थ धर्म है। माँ को ज्ञान योग्य सिखाने के लिए कपिल भगवान ने अवतार लिया। चैतन्य मीरा शहर के जवाहर नगर में श्रीमद भागवत कथा वाचन कर रही थी।

उन्होंने कहा श्रीमद भागवत से पितृ को शांति मिलती है । यह चलता फिरता तीर्थ है जिसमे गोते लगाने से सभी तीर्थों के स्नान का प्रतिफल मिलता है । इंद्रियों पर जिसने नियंत्रण का लिया वह मोक्ष का मार्ग सुलभ कर लेता है ओर संसार के सभी बंधन से मुक्त हो जाता है। संतों का संग सत्संग से मिलता है।
चैतन्य मीरा ने कहा दया, करुणा अजात शत्रु हो ऐसे संत मोक्ष को प्राप्त करते है।

    भगवान से प्रेम करना चाहिए। भागवत कथा से की शिक्षा मिलती है। यह मेडिटेशन का भी माध्यम है। इन्होंने कहा विचारो को शांत रखना आवश्यक है कथा से ही मन पर नियंत्रण होता है। इस अवसर पर इन्होंने ध्यान और योग की शिक्षा भी प्रदान की ।कथा में संध्या झंवर मुम्बई, उर्मिला माँ का विशेष सहयोग रहा। कथा के आरंभ से पूर्व मंगल कलश यात्रा निकाली गई।