भीख मांगे या आत्महत्या करें सरकार कर रही है मजबूर. जयपुर में घुमंतु अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जातियों का महापड़ाव, एल शामिल होंगे प्रदेश भर के पंच पटेल तथा सामाजिक नेता एवं हजारों घुमंतु अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति के नागरिक,,

452

जयपुर विकास प्राधिकरण इस गैर मुमकिन आबादी एवं जयपुर विकास प्राधिकरण के खाते में दर्ज भूमि पर भूमाफिया को कब्जा करवाने की साजिश में लिप्त.
_________________________

जयपुर 19 जून 2022।(निक विशेष) जयपुर के मेट्रो मानसरोवर स्थित रावण का पुतला तथा अन्य फर्नीचर बनाकर जीवन यापन करने वाले घुमंतु अर्ध घुमंतु विमुक्त जाति की बस्ती में भू माफियाओं द्वारा आग लगाए जाने के लगभग बीस दिन बाद भी प्रशासन द्वारा किसी प्रकार की कार्यवाही नहीं करने एवं सबकुछ तबाह होने के बाद गर्मी और बारिश में बिना छत के आकाश के नीचे नारकीय जीवन गुजारने को मजबूर घुमंतु अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति के इन बेसहारा असहाय नागरिकों की सरकार ने किसी प्रकार की सुध नहीं ली है.
लगभग एक हजार से अधिक लोगों के धरना प्रदर्शन के बावजूद प्रशासन के अधिकारी खानापूर्ति में ही लगे हुए हैं इस कारण से यहां रहने वाले नागरिकों के सामने भीख मांगने या आत्महत्या करने की नौबत आ गई है.

घुमंतु ,अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति परिषद के प्रदेश अध्यक्ष रतन नाथ कालबेलिया ने जयपुर में आयोजित पत्रकार वार्ता में जयपुर विकास प्राधिकरण पर इस बेशकीमती सरकारी भूमि को भू माफिया को देने की साजिश करने का आरोप लगाते हुए बताया कि यहां रहने वाले नागरिक पिछले पैंतालीस वर्ष से यही पर रह रहे हैं लेकिन पिछले दस ,बारह वर्ष से इस भूमि पर भू माफियाओं की नजर है जो जयपुर विकास प्राधिकरण के भ्रष्ट अधिकारियों के साथ मिलकर इसे हड़पना चाहते हैं यही कारण है कि बस्ती में ग्यारह वर्ष पूर्व भी इन्हीं लोगों के द्वारा आग लगाई गई थी और अभी ऐक जून को भी इन्हीं लोगों द्वारा बस्ती में आग लगा दी गई जबकि आग लगने के पश्चात भूमि का आकलन करने आए एसडीएम तथा तहसीलदार एवं पटवारी ने इस भूमि को गैर मुमकिन आबादी एवं खातेदार जयपुर विकास प्राधिकरण को बताया है,
पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए संगठन के पदाधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपकर हमने तुरंत प्रभाव से सभी परिवारों को एक लाख रुपए की नकद राहत सहायता उपलब्ध करवाने एवं अन्य समस्याओं से अवगत करवाते हुए उच्च स्तरीय अधिकारी की नियुक्ति की मांग की थी जिसे अब तक नहीं माना गया
अतः हमें महापड़ाव का आयोजन करना पड़ रहा है महापड़ाव के बावजूद भी नहीं माना गया तो शीघ्र ही विद्याधर नगर स्टेडियम मेंतीन लाख से अधिक घुमंतु अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति के नागरिक अपने परिवार सहित अनिश्चितकालीन पडाव डालेंगे.

*Opene link फॉर this news*

Subscribe & Share

    घुमंतू ,अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति परिषद के प्रदेश अध्यक्ष रतन नाथ कालबेलिया ने बताया कि घुमंतू परिषद के प्रदेश उपाध्यक्ष सरवन नाथ सपेरा, प्रदेश संगठन मंत्री पूर्ण नाथ सपेरा, प्रदेश महामंत्री लोकेश सपेरा अलवर, प्रदेश महासचिव दिनेश सपेरा भीलवाड़ा, डूंगरपुर जिला अध्यक्ष कांतिलाल कालबेलिया, उदयपुर ग्रामीण जिला अध्यक्ष लक्ष नाथ कालबेलिया, भीलवाड़ा जिला अध्यक्ष रमेश सपेरा, जयपुर महिला शहर अध्यक्ष रोड़ी भाई बागरिया, बांसवाड़ा जिला अध्यक्ष बादुर नाथ जोगी, बूंदी जिला अध्यक्ष रामपाल नाथ, भोपा समाज के प्रदेश अध्यक्ष राजा राम भोपा, बागरिया समाज के प्रदेश अध्यक्ष गीता भादरिया, राणा ढोली समाज के प्रदेश अध्यक्ष ललित राणा, भाट समाज के अध्यक्ष सरवन बंजारा, सिकलीगर समाज के अध्यक्ष कमल सिकलीगर, गाड़िया लोहार समाज के अध्यक्ष श्रवण गाड़िया लोहार, कलंदर समाज के प्रदेश अध्यक्ष नूर भाई कलंदर, कंजर समाज के अध्यक्ष मनोज कंजर भीलवाड़ा, मिरासी समाज के प्रदेश अध्यक्ष वागा राम मिरासी, सांसी समाज के प्रदेश अध्यक्ष ज्ञान सिंह सांसद, तथा अन्य कई घुमंतु अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त समाज के जाति संगठनों के वरिष्ठ नेताओं के नेतृत्व में जयपुर में हजारों लोगों का महापड़ाव होगा.