अनजान असामाजिक तत्व ने कॉल करके लड़की को किया ब्लैकमेल.. बदनामी के डर से लड़की ने दिए पैसे…

152

ब्लैकमेलर का बढ़ता गया लालच किया और परेशान....
डिप्रेशन में आई लड़की निर्भया स्क्वायड को किया फोन....
निर्भया ने किया एक्शन सच्चाई का लगाया पता..
डिप्रेशन से बच्ची को निकाला...
साइबर ब्लैकमेलर से डरे नहीं तुरंत पुलिस से संपर्क करें..
अश्लील चित्र भेजने व ब्लैकमेल करने पर 1090 एवं साइबर फ्रॉड होने की स्थिति में 1930 पर कॉल करें ...
24 घंटे में कॉल करने पर ट्रांजैक्शन रोका जा सकता है..
आपका पैसा फिर से आपके खाते में आ जाएगा..
सतर्क रहें सुरक्षित रहें..... सुनीता मीना

जयपुर 5 जून 2022।(निक क्राइम) अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त एवं नोडल अधिकारी निर्भया स्क्वायड सुनीता मीना ने बताया की ऑपरेशन# सेफर सिटी #सेफर स्ट्रीट अभियान के तहत मनचलों पर नजर एवं महिला सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए निर्भया की सादा वर्दी में तैनात महिला कॉन्स्टेबल सुनीता एवं सुशीला पुलिस थाना मुरलीपुरा इलाके में राउंड पर थे तभी उनके पास एक लड़की का फोन आया और उसने कहा कि मैडम आप मेरे घर लक्ष्मी नगर खोर चरण नदी मुरलीपुरा पर आओ मै काफी डिप्रेशन में हु।

हमारी टीम तुरंत लड़की द्वारा बताए पते पर पहुंचे और उस लड़की को डिप्रेशन का कारण पूछा तो लड़की ने बताया कि मैडम मोबाइल नंबर 7874781491 व 7880313724 से मेरे पास फोन आता है और गंदे गंदे मैसेज में अश्लील हरकत जैसा घिनौना काम करता है । आज 3,4 दिन हो गए मैं काफी डिप्रेशन में आ गई हूं मेरे माता-पिता जो कि अनपढ़ है वह भी मुझ पर शक करने लगे हैं और कहते हैं कि तू ऐसा काम क्यों करती है लड़की ने बताया कि मैडम मैंने पढ़ाई के लिए 3500 रुपए का ऑनलाइन लोन लिया था तो इन अलग-अलग नंबरों से उक्त शख्स ने मेरे पास फोन किया और मेरे ऊपर दबाव बनाया कि तुम मेरे अकाउंट में पैसे भेजो नहीं तो तुम्हारी अश्लील फोटो व वीडियो वायरल कर दूंगा ।

    इसलिए मैडम मैं दबाव में आकर एक बार 3500 रुपए एक बार 1500 रुपए और एक बार 700 रुपए इसके अकाउंट में डलवा चुकी हूं मैं काफी दबाव में आ गई थी। मैं काफी परेशान हो गई हूं ।अब मैडम किसी ने आपके नंबर दिए थे तो मैंने आप को फोन करके यहां पर बुलाया है आप ही मेरा कुछ समाधान करके जाओ फिर निर्भया ने उस लड़की के माता पिता को समझाया और कहां कि आप इस तरह अपनी बेटी पर शक मत करो यह काफी डिप्रेशन में है आप इसके मां-बाप हो आपको तो इसे हिम्मत बंधानी चाहिए फिर उन नंबरों की जांच पड़ताल की ट्रूकॉलर पर देखा तो वह नंबर फ्रॉड निकले उन नंबरों पर फोन करके देखा लेकिन ना तो फोन लग रहा था और ना ही कोई संपर्क हो पाया और ना ही कोई नाम पता निकला तो अंत में पाया कि यह नंबर तो बिल्कुल फर्जी हैं फ्रॉड है फिर उस लड़की व उसके माता पिता को बताया कि ऐसे नंबरों से फोन आते हैं और लोग ऑनलाइन ठगी का शिकार हो जाते हैं अब ऐसे नंबरों से फोन आए या कोई ओटीपी पूछे तो उसे ऐसे ओटीपी नहीं बताने चाहिए। सुनीता मीना ने बताया कि ऐसे फ्रॉड कॉल आते हैं तो इन पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं देना चाहिए और ना ही इनसे डरना चाहिए तुरंत प्रभाव से पुलिस को बताना चाहिए फिर निर्भया ने उस लड़की से कहा जहां तक हो सके आप अपनी सिम को चेंज कर दो। हम इन नंबरों को पुलिस थाने में दे रहे हैं तथा इनकी जांच करवा लेंगे निर्भया द्वारा काफी देर तक समझाया गया तो वह लड़की काफी हद तक डिप्रेशन से दूर हो गई। निर्भया द्वारा समझाने के बाद उस लड़की के माता-पिता ने कहा कि मैडम हमने बेवजह ही अपनी लड़की पर शक कर रखा था मैडम हमें पता नहीं था आपने बताया तो अब हमें पता चला है फिर उस लड़की व उसके माता-पिता ने निर्भया की टीम को धन्यवाद कहा।
    फ्रॉड कॉल से सतर्क रहें सुरक्षित रहें