रुपीक के डोरस्‍टेप गोल्ड लोन अब कोटा, अजमेर और जोधपुर में भी उपलब्‍ध होंगे,,

126

जयपुर, 08 मार्च 2022: भारत के प्रमुख एसेट-बैक्‍ड डिजिटल लेंडिंग पलेटफॉर्म रुपीक ने राजस्‍थान के तीन प्रमुख शहरों कोटा, अजमेर और जोधपुर में अपना परिचालन शुरू करने की घोषणा की है। जयपुर में एक घरेलू नाम बनने और सफलता दर्ज करने के बाद, रुपीक इन अतिरिक्‍त शहरों में लाइव हुआ है। इस तरह, कंपनी अपनी बेहतरीन डोरस्‍टेप गोल्‍ड लोन सेवाओं को ज्‍यादा से ज्‍यादा ग्राहकों तक पहुंचा रही रुपीक ने तीन नए शहरों में अपनी सेवाएं शुरू की हैं। उपभोक्ता रुपीक के डोरस्‍टेप गोल्‍ड लोन पेशकश को बस एक बटन क्लिक कर प्राप्‍त कर सकते हैं। इसके लिए उन्‍हें कम से कम दस्‍तावेज की जरूरत पड़ेगी और यह लोन हर महीने 0.49 फीसदी की कम से कम ब्याज दर पर हासिल किया जा सकता है। भारतीयों में सुरक्षित ढंग से ॠण लेने की मांग बढ़ने के साथ रुपीक का लक्ष्य इस साल के अंत तक कंपनी के कारोबार को 120 से ज्यादा शहरों में फैलाना है। मौजूदा समय में यह कारोबार 35 से ज्यादा देशों में फैला है।

रुपीक के आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा, “राजस्थान एक अनोखा राज्य और कॉमर्शियल हब है, जिसमें उपभोक्ताओं के लिहाज से गोल्ड लोन प्लेटफॉर्म के विकास की अपार संभावनाएं हैं। हमने जयपुर से अपने सफर की शुरुआत की थी। हम गोल्ड के बदले लोन देने की सुविधा सभी को प्रदान करने के लिए घर में पड़े सोने के बदले कैश लेने का ऑफर दे रहे हैं। गुलाबी शहर जयपुर में अपनी मजबूत मौजूदगी दर्ज कराने के बाद, अब कोटा, अजमेर और जोधपुर जैसे राजस्थान के अन्य शहरों में गोल्ड लोन की लगातार बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए यह एक स्‍वाभाविक कदम था। हम अपने तकनीक से लैस प्रॉडक्ट और पारदर्शी ऑफर के माध्यम से उपभोक्ताओं का भरोसा जीतकर बेहद उत्साहित हैं और देश के शेष शहरों में लोगों को रुपीक गोल्ड लोन स्टैंडर्ड अनुभव दिलाने के लिए निरंतर काम करते रहेंगे।”
भारत में अब तक 5 लाख से ज्यादा उपभोक्ताओं को गोल्ड लोन की सुविधा प्रदान की गई है। रुपीक ने न्यू से क्रेडिट और न्यू से गोल्ड लोन की श्रेणी में उपभोक्ताओं के एक बहुत बड़े वर्ग का विश्वास जीता है। रुपीक के उपभोक्ताओं की श्रेणी में 60 फीसदी नए ग्राहक शामिल हैं। यह ग्राहकों को परिसंपत्तियों के बदले कैश प्रदान करने वाला सबसे पसंदीदा डिजिटल प्लेटफॉर्म बना हुआ है।

    तकनीक से लैस डोरस्‍टेप गोल्ड लोन प्रदान करने वाले प्लेटफॉर्म के बेमिसाल विकास के बाद रुपीक भारत के पहला तकनीकी से लैस गोल्ड मोनाइटेजेशन (जीओएमओएन) आधारभूत ढांचे का निर्माण कर रहा है। इसके तहत भारत के पहले गोल्ड पावर्ड कार्ड, डिजि लॉकर, बाय नाउ पे लेटर (बीएनपीएल) और गोल्ड टेलर मशीन (जीटीएम) जैसे नए-नए प्रॉडक्ट्स शामिल हैं। आज यह कार्ड देश के 14 से ज्यादा शहरों में उपलब्ध है, जबकि जीटीएम, बीएमपीएल और डिजी लॉकर अभी पायलट परियोजना के चरण में हैं। इन नए प्रॉडक्ट्स की पेशकश भविष्य में पूरे मार्केट की स्थिति को बदलने वाले साबित होंगे और यह 2022 में रुपीक के विकास को ज्यादा मजबूती प्रदान करेंगे।