शराब ठेके पर लूट का मात्र 6 घंटों में खुलासा: चार आरोपी गिरफ्तार, जयपुर में वाईफाई के काम के दौरान हुई मुलाकात,, जयपुर से टैक्सी कर रणथम्भौर घूमते हुए बूंदी पहुंचे, शराब ठेके पर 500-500 के नोट की गड्डी देख लूट की वारदात की,,

190

बूंदी 05 फरवरी 2022।(निक क्राइम)थाना इंदरगढ़ क्षेत्र के पापड़ी गांव स्थित शराब ठेके पर पिस्टल की नोक पर सेल्समैन से 43,000 नगद व मोबाइल लूटने की घटना का मात्र 6 घंटों में पुलिस खुलासा कर दिया। बूंदी पुलिस की मुस्तैदी से नाकाबंदी में चारों लुटेरे पकड़े गए। पकड़े गए लुटेरे लोकेश साहू पुत्र छितर लाल (25) कोतवाली सवाई माधोपुर, जॉनी सांवरिया पुत्र मांगीलाल (19) मालवीय नगर जयपुर, ईश्वर उर्फ मोनू पारेता पुत्र रमेश चंद्र (22) बड़ा खेड़ा एवं मोहम्मद शहजाद पुत्र मोहम्मद जमील (19) समस्तीपुर बिहार के रहने वाले हैं जो फिलहाल वाईफाई के काम के लिए जयपुर में किराए के मकान में अलग-अलग रहते हैं।

बूंदी एसपी जय यादव ने बताया कि शुक्रवार को थाना इंद्रगढ़ क्षेत्र के पापड़ी गांव में स्थित शराब ठेके के सेल्समैन विजय सिंह ने एक रिपोर्ट दर्ज कराई। जिसमें बताया कि शाम 5:00 बजे एक स्विफ्ट डिजायर में आए तीन नकाबपोश व्यक्तियों ने पिस्टल की नोक पर उससे ₹43000 व एक मोबाइल लूट लिया और गाड़ी में भाग गए। रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज कर सीओ लाखेरी नतिशा जाखड़ के सुपर विजन एवं थानाधिकारी लाखेरी सुरेश कुमार गुर्जर, थानाधिकारी इंद्रगढ़ हरीश भारती, थानाधिकारी देईखेड़ा सत्यनारायण गुर्जर व गेंडोली थाने के एएसआई रघुराज सिंह के नेतृत्व में टीमें गठित की गई।
एसपी यादव ने बताया कि लूट की सूचना पर बून्दी जिले के अलावा पड़ौसी जिले टोंक व सवाई माधोपुर में भी नाकाबंदी कराई गई। लुटेरों के टोंक जाने की सूचना पर उन्होंने टोंक एसपी से लगातार रात में संपर्क किया। इस दौरान आसूचना पर पीछा कर रही लाखेरी पुलिस की टीम ने कुख्यात हथियारबंद लुटेरों को मात्र 6 घंटे में दबोच लिया।
थाने लाकर चारों अभियुक्तों से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि वे

    जयपुर में वाईफाई लगाने का काम करते हैं। इस दौरान उनकी जान पहचान हो गई। रोजाना शराब पार्टी के कारण रुपए की कमी होने लगी तो लूट की योजना बनाई। ईश्वर उर्फ मोनू के पास पहले से ही एक देशी कट्टा व चार कारतूस थे। जिसे लेकर उन्होंने जयपुर से एक टैक्सी किराए पर ली और सवाई माधोपुर रणथम्भौर घूमे। रास्ते में टैक्सी ड्राइवर से मारपीट कर हाथ -पैर बांधकर बीच में बैठा दिया और उसके खाते से रुपए ट्रांसफर कर पेट्रोल व खाने के रुपए लिए। पाटन में ई-मित्र की दुकान से ड्राइवर के खाते से नगद रुपए निकलवाए। इसके बाद वे पापड़ी गांव में शराब लेने ठेके पर गए। जहां 500 रुपयों के नोट की गड्डी देखकर लूट की योजना बना ली।
    उस वक्त तो शराब लेकर मेज नदी के किनारे गये ओर वहां शराब पी। उसके बाद वापस ठेके की तरफ गए। एक व्यक्ति गाड़ी में हाथ पैर बंधे पड़े ड्राइवर के पास रुका और तीनों ने ठेके में जाकर देसी तमंचे की नोक पर रुपए व मोबाइल की लूट की ओर भाग गए। गिरफ्तार लोकेश साहू के विरुद्ध पूर्व में लूट व मारपीट के 8 व ईश्वर उर्फ मोनू के विरुद्ध मारपीट के 6 आपराधिक मुकदमे दर्ज है। फिलहाल चारों अभियुक्तों से पुलिस पूछताछ में जुटी है।