बौद्धिक सम्पदा अधिकारों पर राष्ट्रीय जागरुकता एवं प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन,,

180

जयपुर 28 जनवरी 2022।(निक वाणिज्य) वैदिक कन्या पी.जी. महाविद्यालय के विज्ञान विभाग के तत्वावधान में डी.पी.आई.आई.टी., वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय, भारत सरकार के सहयोग से बौद्धिक सम्पदा अधिकारों के विषय पर एकदिवसीय राष्ट्रीय जागरुकता एवं प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया। महाविद्यालय की प्राचार्या तथा कार्यशाला सहसंरक्षक डॉ. कल्पना अग्रवाल ने स्वागत उद्बोधन के साथ कार्यशाला का शुभारंभ किया। उन्होंने बताया कि शिक्षा के क्षेत्र में शिक्षकों और विद्यार्थियों को बौद्धिक सम्पदा अधिकारों के प्रति जागरुक होना आवश्यक है।

कार्यशाला की संयोजक डॉ. सुरभि ढढ्ढा ने बौद्धिक सम्पदा अधिकारों का परिचय देते हुए बताया कि बौद्धिक सम्पदा हमारी अमूल्य धरोहर है जिसका जागरुकता के साथ-साथ संरक्षण होना चाहिए।
कार्यक्रम के तकनीकि सत्र में वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय, भारत सरकार के पेटेंट अधिकारी डॉ. मनोज बालान ने बौद्धिक सम्पदा अधिकारों में पेटेंट, ट्रेड मार्क, कॉपीराइट, डिजाइन, ज्योग्राफिकल इंडिकेशन तथा इंटिग्रेटेड सर्किट विषयों पर अपना प्रस्तुतिकरण दिया। उन्होंने इसी सत्र में प्रतिभागियों के लिए प्रश्रोत्तरी का भी आयोजन किया।

    इस अवसर पर महाविद्यालय के सचिव तथा कार्यशाला के संरक्षक डॉ. अनिरुद्ध साहनी ने भारत में बौद्धिक सम्पदा अधिकारों के प्रति जागरुकता की आवश्यकता बताई।
    कार्यशाला में 200 से अधिक प्रतिभागियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।
    कार्यक्रम के अंत में डॉ. तरुणा भट्ट विभागाध्यक्ष रसायन शास्त्र ने सभी माननीय शिक्षाविदों, शोधार्थियों तथा प्रतिभागियों को धन्यवाद ज्ञापित किया।