नाबालिक से कुकर्म के मामले में दूसरे आरोपी ने भी किया सीओ ऑफिस में सरेन्डर,, पूछता है NEWINDIA खबर, ऐसे दरिंदों को क्या सजा मिलनी चाहिए ?

573

भरतपुर 18 नवम्बर 2021।(निक क्राइम) जिले में नाबालिक बच्चे के साथ कुकर्म के चर्चित मामले में गुरुवार को निलंबित न्यायिक कर्मचारी अंशुल सोनी ने सीओ शहर ऑफिस में सरेंडर कर दिया। जिसे बाद में गिरफ्तार कर लिया गया। नाबालिक बच्चे के साथ कुकर्म के मामले में नामजद आरोपी न्यायिक अधिकारी जितेन्द्र गुलिया को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। एक अन्य न्यायिक कर्मचारी राहुल कटारा भी पूर्व में सरेंडर कर चुका है।

एसपी देवेन्द्र विश्नोई ने बताया कि 31 अक्टूबर,2021 को पीडित बालक की माँ ने थाना मथुरागेट पर विशिष्ठ न्यायाधीश एसीबी कोर्ट भरतपुर जितेंद्र गुलिया एवं कोर्ट के दो लिपिकों अंशुल सोनी व राहुल कटारा के विरुद्ध अप्राकृतिक मैथून किये जाने की घटना का प्रकरण दर्ज कराया गया था। जिसका अनुसंधान वृत्ताधिकारी शहर सतीश वर्मा द्वारा किया जा रहा है।

    प्रकरण मे पूर्व में विशिष्ठ न्यायाधीश एसीबी कोर्ट जितेन्द्र सिंह गुलिया एवं राहुल कटारा लिपिक एसीबी कोर्ट भरतपुर को गिरफ्तार किया जा चुका है। गुरुवार को मामले में वांछित आरोपी अंशुल सोनी पुत्र रवि कुमार निवासी गुदडी मौहल्ला सुनार गली कस्बा कुम्हेर तत्कालीन कनिष्ठ लिपिक जिला एवं सेशन न्यायधीश भरतपुर हाल निलम्बित सिविल न्यायधीश एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट रुपवास ने वृत्ताधिकारी के समक्ष उनके कार्यालय में आत्मसमर्पण किया है जिसे पूछताछ के बाद प्रकरण में गिरफ्तार किया गया है।