कोरोना वॉरियर्स के रूप में सेवाएं देने वाले अस्थाई यूटीबी नर्सेज को पिछले 8 माह से वेतन नहीं मिला है, और ना ही उनका एक्सटेंसन सेवा विस्तार किया गया है, हालांकि प्रिंसिपल सेक्रेट्री सिद्धार्थ महाजन ने कुछ दिनों पहले इनके एक्सटेंशन की बात कही थी,जबकी नयी भर्तियां हो रही है, राजस्थान राज्य नर्सेज एसोसिएशन एकीकृत द्वारा भी समय-समय पर मांग उठती रहती है,,

384
    सरकार दुवारा 8 साल से काम कर रहे स्टाफ को निकाल कर नई यूटीबी भर्ती ले रही है,,,
    नई भर्ती ना निकालकर पहले जो काम लर रहे है उन्है नियमित किया जाए ,,,

    जयपुर 16 मई 2021।(चिकित्सा) कोरोना महामारी के खिलाफ संघर्ष में चिकित्सकों जितनी ही मेहनत, मरीजों की जान बचाने में वही नर्सिंग कर्मचारियों की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है।
    कोविड-19 नियंत्रण के साथ संक्रमितों का इलाज तथा देखभाल में भी जुटे नर्सिंग कर्मचारियों के मुद्दे पर सरकार सौतेला व्यव्हार कर रही है। नर्सेज की मांगों को लेकर पूर्व में समय-समय पर मांग के माध्यम से संगठन की ओर से सरकार को अवगत कराया। लेकिन उन पर अभी तक उचित कार्यवाही नहीं होने से कार्मिकों में रोष है।

    नर्सिंग कर्मचारियों ने कहा कि कोविड संक्रमण की दूसरी लहर के बीच भी वह लगातार कोविड अस्पताल में संक्रमितों का उपचार कर रहे हैं। बावजूद इसके उनकी समस्या कोई सुनने वाला नहीं हैं। 12 माह से अधिक समय से कार्मिकों को वेतन नहीं मिला है। वेतन के बगैर भी लगातार ड्यूटी कर रहे हैं, वेतन नहीं मिलने से उनपर आजीविका का संकट गहरा गया है।

      नर्सिंग कर्मियों ने बताया कि हमारा जीवन बीमा भी नहीं है,जिससे उनकी सुरक्षा पर भी बड़े सवाल उठने लगे हैं।