कोरोना गाइडलाइन को लेकर जयपुर जिला कलेक्टर ने ली धर्मगुरुओं की मीटिंग, स्वामी श्री बालमुकुंद आचार्य जी महाराज के साथ गलता पीठाधीश्वर अवधेश आचार्य जी,मोती डूंगरी गणेश मंदिर के महंत कैलाश जी आदि रहे उपस्थित,,,

645

जयपुर 7 अप्रैल 2021।(निक धार्मिक)-राज्य में कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने आज जयपुर के मंदिर, मठ, चर्च, गुरुद्वारा, मस्जिद के धर्मगुरुओं के साथ बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर चर्चा की।
जिला कलेक्टर ने सुझाव दिया कि सभी धर्म गुरु वैक्सीनेशन के लिए अपील जारी करें अंतर सिंह नेहरा का कहना था कि धर्म गुरुओं के बात सभी लोग मानते हैं। वे लोगों को समझाएं की वैक्सीन लेने से कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता अपितु कोरोना संक्रमण से बचाव होता है। अंतर सिंह नेहरा ने कहा कि कोरोना गाइडलाइन की पालना करते हुए धार्मिक स्थलों पर 100 से ज्यादा भक्तों की भीड़ इकट्ठा ना होने दें।
सभी धर्म गुरुओं ने इस बात की सहमति देते हुए कहा कि हम हमारे मंदिर, गुरुद्वारा आदि में वैक्सीनेशन कैंप लगाने को तैयार हैं। साथ ही हम लोग बैनर पोस्टर लगाकर लोगों में वैक्सीनेशन के लिए जागरूकता पैदा कर वैक्सीन के लिए प्रोत्साहित करेंगे।
स्वामी श्री बालमुकुंद आचार्य जी महाराज हाथोज धाम ने कहा कि हमने तो 3 दिन पहले ही वार्ड नंबर 36 के पार्षद के साथ मिलकर वैक्सीनेशन कैंप लगाया है। जिसमें करीब 750 लोगों को वैक्सीन की डोज दी गई। आगे भी हम सरकार का सहयोग करते रहेंगे।

इस अवसर पर स्वामी श्री बालमुकुंद आचार्य जी महाराज हाथोज धाम, गलता पीठाधीश्वर अवधेश आचार्य जी, मोती डूंगरी गणेश मंदिर महंत कैलाश जी, घाट वाले बालाजी महंत सुरेशानंद जी,
सिख समाज के अजय पाल सिंह जी, मुमताज मसीह, पुजारी चांदपोल हनुमान मंदिर, एडीएम शंकर लाल सैनी, मस्जिद मौलवी आदि उपस्थित रहे।
जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने बैठक में साफ संकेत दिए कि कोविड-19 मरीजों के आंकड़ों को देखते हुए हम एक बार फिर से लॉक डाउन की तरफ जा रहे हैं। यदि जरूरत पड़ी तो लॉकडाउन भी लगाया जा सकता है।