नर्सेज राज्यव्यापी आंदोलन की ओर अग्रसर, 5 अप्रैल को बीकानेर संभागीय मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन, प्रांतीय पदाधिकारी लेंगे भाग,,

499

जयपुर 3 अप्रैल 2021।(निक चिकित्सा) राज्य के फ्रंटलाइन नर्सेज कोरोना वॉरियर्स की जायज ज्वलंत एवं लंबित मांगों के समाधान हेतु 5 मार्च को जयपुर सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज पर राजस्थान राज्य नर्सेज एसोसिएशन एकीकृत के बैनर तले प्रदर्शन के साथ प्रांतीय पदाधिकारियों द्वारा दिए गए सांकेतिक धरने में 1 माह मैं समाधान नहीं होने पर 5 अप्रैल को बीकानेर संभागीय मुख्यालय पर धरने के साथ राज्यव्यापी आंदोलन तेज करने की घोषणा की गई थी, उसी क्रम में अब 5 अप्रैल सोमवार को प्रातः 10:00 बजे से गांधी पार्क बीकानेर में बीकानेर संभाग के विभिन्न जिलों के अध्यक्ष एवं नर्सेज प्रतिनिधि पदाधिकारियों द्वारा संभाग प्रभारी आदि राम चौधरी के नेतृत्व में सांकेतिक धरना प्रदर्शन घोषित है। जिसकी सभी तैयारियां पूरी हो चुकी है, धरने में प्रांतीय मुख्यालय जयपुर से प्रमुख संगठन पदाधिकारी नर्सेज़ प्रदेशाध्यक्ष राजेंद्र राना के नेतृत्व में धरने में शामिल होंगे।। । प्रदेश महामंत्री, कैलाश शर्मा, एवं जयपुर जिलाध्यक्ष अनिल सैनी ने बताया कि विगत 5 मार्च 2021 को जयपुर मैं धरने से प्रेषित समस्याओं के क्रम में प्रमुख शासन सचिव सिद्धार्थ महाजन द्वारा कुछ समस्याओं पर आवश्यक दिशा निर्देश संगठन पदाधिकारियों के साथ हुई चर्चा के बाद दिए हैं परंतु किसी भी प्रमुख ज्वलंत समस्या का समाधान नहीं होने से कोरोना से जूझते फ्रंट लाइन नर्सेज कोरोना वारियर्स को मजबूरन राज्यव्यापी चरणबद्व सांकेतिक धरना प्रदर्शन के लिए विवश होना पड़ रहा है।

*नर्सेज की प्रमुख मांगो में* वायदे के अनुसार केंद्र के अनुरूप पदनाम परिवर्तन ,ड्रेस कोड में परिवर्तन, राज्य के सैकड़ों संविदा यूपी यूटीवी एवं नव नियुक्त नियमित नर्सिंग कर्मियों को विगत 7 माह से वेतन नहीं मिलने, एनएचएम नर्सिंग कर्मियों को सफाई कर्मियों से भी कम देय मानदेय 7900 में अपेक्षित वृद्धि, समस्त संविदा नर्सिंग कर्मियों के नियमितीकरण की नीति,ए एन एम जीएनएम एवं नर्सिंग ट्यूटर संवर्ग की समय वध पदोन्नति से संबंधित पदों में लंबित वृद्धि, पुरानी पेंशन योजना की बहाली, नव नियमित नर्सेज की जोइनिंग तिथि 28 अप्रैल मनाने।, चिकित्सक विहीन चिकित्सा केंद्रों पर नर्सेज से करवाए जा रहे प्राथमिक उपचार संबंधी लंबित आदेश , कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर पर लीव रिजर्व स्टाफ लगाने, इत्यादि 11 सूत्री मांगे लंबित है ! प्रदेश संघर्ष संयोजक गोवर्धन ख्यालिया रण सिंह चौधरी नवीन शर्मा तथा प्रदेश पर्यवेक्षक भूदेव धाकड़ ने सरकार को चेतावनी देते हुए बताया कि बीकानेर में आयोजित धरने मैं ही आगामी आंदोलन के चरण की घोषणा की जावेगी । यदि समय रहते सरकार ने नर्सेज की लंबित समस्याओं का समाधान नहीं किया तो नर्सेज राज्यभर में व्यापक आंदोलन को मजबूर होगी । जिसकी जबाबदेही सरकार की होगी।