शिक्षा की उपयोगिता के लिए भारत विश्व गुरु रहा–नड्डा* *भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने प्रताप यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित किया*

29

जयपुर 29 सितम्बर 2020।(निक शिक्षा) शहर में चंदवाजी स्थित प्रताप विश्वविद्यालय का चौथा दीक्षांत समारोह मंगलवार को यूनिवर्सिटी के ऑडिटोरियम में आयोजित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा रहे, जिन्होंने वर्चुअल रूप से सेरेमनी को संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षा देशभक्ति का माध्यम है और शिक्षा की उपयोगिता के लिए भारत विश्व गुरु रहा है। नालंदा, तक्षीशिला जैसे विद्यालयों ने विश्व को यहां शिक्षा दी है इसलिए शिक्षा के क्षेत्र में भारत का इतिहास स्वर्णिम है और इस विरासत को हमें आगे बढ़ाना है। अगर स्टूडेंट्स अपनी शिक्षा को पुरातन शिक्षा से जोड़ते हैं तो वो और भी विशेष हो जाती है। उन्होंने बताया कि लॉर्ड मैकाले ने भारतीय संस्कृति और यहां के सामाजिक परिवेश को प्रभावित करने के लिए अंग्रेजी शिक्षा नीति की शुरुआत की। केंद्रीय सरकार द्वारा लाई गई नई शिक्षा नीति 2020 वापस भारतीय शिक्षा नीति के मूल्यों को समाज से जोड़ने के लिए प्रेरित करेगी। इस अवसर पर नड्डा ने अपने छात्र जीवन के अनुभव भी साझा किए। वहीं कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कुलाधिपति शैलेंद्र भदौरिया ने भी सभी छात्रों को बधायी देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। साथी ही कहा की साल 2011 में जिस उद्देश्य से विश्वविद्यालय की नींव रखी गई थी, वह अब साकार होता नजर आ रहा है। विवि परिसर में पढ़ाई के साथ-साथ छात्रों को सांस्कृतिक, खेल, कंप्यूटर विज्ञान, वैज्ञानिक दृष्टिकोण से जुड़ी गतिविधियों के लिए भी प्रेरित किया जाता है। जिससे उनका सार्वभौमिक विकास हो सके। सभी अध्यापक पठन-पाठन के प्रति समर्पित होकर कार्य कर रहे हैं। यहां से पढ़कर विधार्थी विभिन्न क्षेत्रों में जाकर विश्वविद्यालय का नाम रोशन करेंगे। इस अवसर पर उन्होंने चांसलर गोल्ड मेडलिस्ट के नामों की घोषणा की, जिनमें मनीष कुमार (गणित विभाग), जितेंद्र कुमार कुशवाह मूल निवासी नेपाल ( कंप्यूटर साइंस) को ये अवार्ड दिया गया। बीना मेमोरियल गोल्ड अवार्ड सुप्रिया कुमारी और मनीषा को दिया गया। इसके बाद वाईस चांसलर द्वारा विवि की वार्षिक रिपोर्ट पढ़कर सुनाई गई। रसायन विभाग की अस्टिस्टेंट प्रोफेसर अविधा कुलश्रेष्ठ ने कार्यक्रम का सफलतापूर्वक संचालन किया। कार्यक्रम के अंत में मुख्य अतिथि ने छात्र- छात्राओं को शपथ दिलाई। जेपी नड्डा को आईटी हेड त्रिलोक सिंह रावत और मैनेजमेंट विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर शैलेंद्र चौहान ने स्मृति चिन्ह भेंट किया।यूनिवर्सिटी के कुलाधिपति शैलेंद्र भदौरिया, सह ट्रस्टी सुरभि भदौरिया, वाईस चांसलर को पुष्प भेंट कर उनका स्वागत किया गया।

वाईस चांसलर अभय कुमार ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी अतिथियों एवं स्टूडेंट्स व पेरेंट्स का आभार व्यक्त किया। इस कार्यक्रम का लाइव प्रसारण प्रताप विवि के फेसबुक और युट्यूब पेज पर भी किया गया, जिसमें बड़ी संख्या में लोगों की भागीदारी रही। कोरोना महामारी को देखते हुए आयोजन स्थल पर सोशल डिस्टेंसिग का पूरा ध्यान रखा गया। समारोह में विश्वविद्यालय के अव्वल रहे विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया। इससे पहले सर्वप्रथम शाम 5 बजे कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती वंदना से हुई, जिसमें मुख्य अतिथि ने मां सरस्वती और महाराणा प्रताप के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्ज्वलित किया। इसके बाद लॉ की असिस्टेंटे प्रोफेसर स्वाति सिंघानिया ने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा को तुलसी का पौधा देकर उनका स्वागत किया। कार्यक्रम के अंत में सह ट्रस्टी सुरभि भदौरिया ने वोट ऑफ थैंक्स दिया।