पुलिस को आता देख फरार हुए सट्टेबाज, स्थानीय निवासी को पकड़ ले गई पुलिस,, सट्टेबाजों के आगे पस्त पुलिस, क्या कोई मिलीभगत ? स्थानीय निवासी चौमू पुलिस की कार्य प्रणाली से खफा,,

890

जयपुर 11 जुलाई 2020।(निक क्राइम) जयपुर के चौमूं थाना क्षेत्र में सट्टेबाजों के हौंसले बुलदं हैं, आलम यह है कि खुले में सट्टेबाज अपना गौरखधंधे को अंजाम दे रहे हैं लेकिन पुलिस आंखे मूंदे बैठी है और इसका खामियाजा क्षेत्रवासियों को भगुतना पड़ रहा है। स्थानीय निवासियों ने बताया कि सट्टेबाज खुलेआम सडक़ों पर खाईवाली और सट्टेबाजी करते हैं और जब पुलिस आती है तो वह भाग छूटते हैं और पुलिस वहां से गुजर रहे या खड़े हुए लोगों को गिरफ्तार कर ले जाती है। ऐसी ही घटना चौमूं थाना के क्षेत्र पठानों का मोहल्ला निवासी मीर खान के साथ घटी।

पुलिस जब सूचना पर वहां पहुंची तो सट्टेबाज फरार हो गए ओर वहां खड़े मीर खान को उठा ले गई। पुलिस ने मीर को ओरापी बनाकर धारा 151 के तहत बंद कर दिया। मीर खान का कहना है कि मैं वहां सिर्फ खड़ा हुआ था और पुलिस ने सीधे मेरी बात बिना सुने बिना ही मुझे बंद कर दिया। स्थानीय रहवासियों का भी यही कहना है कि पुलिस आरोपियों को पकडऩे के बजाया आसपास के लोगों को परेशान करती है जबकि सट्टेबाजी करने वाले खुले में घूमते हैं।