फिरोज़ा बानो अब तक क्यों नहीं हुई गिरफ्तार, भूमाफिया महेंद्र राजोरिया से सांठगांठ कर , कई बैंकों से लोन उठा करोड़ों का लगाया चूना, क्यों अनभिज्ञ बनी है सरकार ,फिरोज़ा बानो के मामले में,पुलिस को अपना काम क्यों नहीं करने दे रही जबकि कई थानों में दर्ज है FIR,सूबे के गृहमन्त्री संज्ञान ले, सूत्रों के हवाले से ख़बर अनुसार फिरोज़ा की हज कमेटी से हो सकती है छुट्टी,,

959

जयपुर 8 जून2019।(निक क्राइम) दी राजलक्ष्मी महिला अरबन को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड की पूर्व अध्यक्षा फिरोज़ा बानो पर भूमाफिया महेंद्र राजोरिया के साथ मिलकर ,फ़र्ज़ी पट्टे के जरिये कई बैंकों से करोड़ो के लोन उठाने का मुकदमा शहर के कई थानों में दर्ज है ।
बावजूद इसके सरकार व पुलिस प्रशासन फिरोज़ा बानो को अब तक गिरफ्तार करने में ना कामयाब रही है। यह समझ से परे है।
अपराधी महेंद्र राजोरिया ने रिज़र्व बैंक के अधिकारी, सैन्य अधिकारी,राजस्थान पुलिस, वनस्थली विद्यापीठ की प्राचार्या,आदि ना जाने कितनों के साथ ठगी की है ।
इसके साथ ही महेंद्र राजोरिया ने हाउसिंग बोर्ड,जेडीए,नगर निगम व अन्य सोसाइटियों के पट्टों के मूल दस्तावेज़ों के साथ छेड़छाड़ कर उप पंजीयन कार्यालयों से मिलीभगत कर फ़र्ज़ी रजिस्ट्री से बैंकों से लोन उठा चुका है।
इन अपराधों में राजोरिया ने अपनी 3 पत्नियां ,सुमन राजोरिया, पूनम सिंधी व राजोरिया,हेमलता राजोरिया, माँ शांति,भाई बहन सहित फिरोज़ा बानो भी बराबर की हिस्सेदार है।
दी राजलक्ष्मी महिला अरबन को ऑपरेटिव बैंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी इकबाल ने newindia ख़बर को बताया कि फिरोज़ा बानो सहित इन सब ने फर्जी रजिस्ट्री करवा कर हमारे बैंक के साथ ,बैंक ऑफ महाराष्ट्रा, बैंक ऑफ पटियाला,स्टेट बैंक ऑफ इंडिया जैसे कई बैंकों से ऋण उठा रखा है।

महेंद्र राजोरिया, जो हो चुका है गिरफ्तार

इकबाल ने कहा कि महेंद्र राजोरिया के गिरफ्तार होने के बाद व उसके द्वारा।किये खुलासे के बाद भी पुलिस अब तक सरगना फिरोज़ा बानो को क्यों नहीं पकड़ पाई है। यह सरकार व पुलिस प्रशासन पर एक सवालिया निशान खड़ा कर रही है।