किसान नेता व आप पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रामपाल जाट ने प्रधानमंत्री को लिखा पत्र

854

किसानों की लागत का डेढ़ गुना मूल्य देने के लिए बोनस एवं सम्पूर्ण खरीद के लिए बाधाओं समाप्त करने की मांग को लेकर लिखा पत्र, पत्र की प्रतिलिपि भेजी सभी सांसदों को

जयपुर 9 मार्च 2019।(निक राजनीतिक)आम आदमी पार्टी राजस्थान अध्यक्ष एवं किसान महापंचायत के राष्ट्रिय अध्यक्ष रामपाल जाट ने शनिवार को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित भाजपा के सभी सांसदों को पत्र लिखकर ष् किसानों की लागत का डेढ़ गुना मूल्य देने के लिए बोनस व्यवस्था लागू करने एवं किसानों की फसल सम्पूर्ण खरीद में आ रही विभिन्न बाधाओं को समाप्त ष् करने की मांग को लेकर पत्र लिखा।

आप नेता एवं किसान महापंचायत राष्ट्रिय अध्यक्ष रामपाल जाट ने कहा की वर्ष 2014 से किसानों को आर्थिक रूप से समृद्ध करने की दिशा में आय केंद्रित योजनान्तर्गत न्यूनतम समर्थन मूल्य से किसानों को लाभान्वित करने के लिए निरंतर पत्रों द्वारा अनुनय . विनय किया जाता रहा है। इस दिशा में दूदू से दिल्ली ट्रेक्टर रैली को हरियाणा सीमा पर रोकने पर किसानो का पड़ाव आरम्भ हुआ थाए जिसकी समाप्ति 25 दिसम्बर 2016 को आपके निर्देशानुसार प्रधानमंत्री कार्यालय दिल्ली में वार्ता आयोजित की गयी थीए जिसमे डाण् एम एस स्वामीनाथन की अध्यक्षता वाले राष्ट्रीय किसान आयोग की लागत से डेढ़ गुणा दाम देने हेतु श्किसानो की सुनिश्चित आय एवं मूल्य का अधिकार विधेयकए 2012 के आधार पर कानून बनाने सहित अन्य मांगो पर यथोचित कार्यवाही करने तथा आपसे वार्ता कराने का आश्वासन दिया गया था प् उसके अनुसार कार्यवाही अभी तक नहीं हुई और रबी की गेंहूए जौए सरसों दृ तौरियाए चनाए मसूर और कुसुम की खरीद आरम्भ होने जा रही है इनके उत्पादक किसान भी पिछले 4 वर्षों की तरह ही न्यूनतम समर्थन मूल्य से वंचित नहीं रहे। ऐसी मांग इस पत्र के माध्यम से प्रधानमंत्री महोदय से एवं भाजपा सांसदों से की गई है। इस पत्र में रामपाल जाट ने लागत के डेढ़ गुणा मूल्य देने के लिए बोनस देने तथा सम्पूर्ण खरीद की बाधाओं को समाप्त करने के लिए किसान महापंचायत प्रधानमंत्री सहित भाजपा के सांसदों ध्यान आकर्षित करते हुए अंकित किया है की भारत सरकार दलहन.तिलहन एवं कपास की खरीद के लिए तैयार की गयी मूल्य समर्थन योजना की मार्गदर्शिका में खरीद की बाधाओं को हटाकर किसानो को न्यूनतम समर्थन मूल्य दिलाने के लिए उपजों की वर्षभर दृ ग्रामस्तर पर सम्पूर्ण खरीद करने के लिए केंद्र की मार्गदर्शिका को संशोधित करनेए सरसों के न्यूनतम समर्थन मूल्य को तेल अंश के आधार पर मूल्य वृधि से जोड़कर प्रत्येक खरीद केंद्र पर तेल अंश मापी उपकरण रखनेए औसत उचित गुणवत्ता ;थ्।फद्ध के आधार पर व्यक्तिपरक निर्णय के आधार पर उत्पाद को अस्वीकृत करने की बजाय गुणवत्ता मानकों को मापने की पारदर्शी एवं वैज्ञानिक प्रणाली अपनाने की दिशा में प्रत्येक खरीद केंद्र पर उच्च तकनीकी वाले उपकरणों का उपयोग करने तथा राजस्थान में पंजीयन के लिए भामाशाह कार्ड की अनिवार्यता को समाप्त करने की मांग की है।

किसान नेता राम पाल जाट ने पत्र के माध्यम से किसानों को लागत के डेढ़ गुणा दाम देने के लिए गेहूं पर 168.50 रुपयेए जौ पर 430.50 रुपयेए चना पर 1137.00 रुपयेए सरसों एवं तौरिया पर 715 रुपये प्रति क्विंटल बोनस दिए जाने की भी मांग की है। पत्र में जाट ने अंकित करते हुए दर्शाया हुआ है, C2 लागत का कृषि लागत एवं मूल्य आयोग द्वारा रबी फसलों की मूल्य नीति विपणन वर्ष 2019-20 में उल्लेख किया हुआ है।