मुख्यमंत्री बजट में व्यस्त, अधिकारी कर रहे सुनवाई,, पत्रकारों का 24वा जत्था पहुंचा सीएमआर,,

310

जयपुर 7 फरवरी 2023।(निक विशेष) मुख्यमंत्री निवास के अधिकारियों का कहना है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आवंटी पत्रकारों की पीड़ा से वाकिफ हैं, लेकिन प्रदेश के आगामी बजट को लेकर उनकी अति व्यस्तता के चलते पत्रकारों को मिलने का समय नहीं दे पा रहे हैं। बजट के बाद वे आवंटी पत्रकारों से भी मिलेंगे और उनकी प्लॉट के पट्टे की समस्याएं भी हल करेंगे।

गहलोत के पिछले कार्यकाल की पत्रकार कल्याण की महती योजना पिंकसिटी प्रेस एनक्लेव, नायला के आवंटी 571 पत्रकार और उनके परिवार न्याय की आस में रोजाना मुख्यमंत्री निवास पर पहुंच रहे हैं। मंगलवार को 28वे दिन भी आवंटी पत्रकारों के 24वे जत्थे से मुख्यमंत्री निवास के अधिकारियों ने ही बात की और बजट के बाद ही मुलाकात कराने का आश्वासन दिया।
चलो नायला संगठन के आह्वान पर सीएमआर पहुंचे 24वे जत्थे में वरिष्ठ पत्रकार दिनेश प्रधान, महेंद्र सिंह, प्रमोद शर्मा, भभूति प्रसाद मिश्रा और धर्मेंद्र सिंघल ने संयुक्त सचिव ललित कुमार को बताया कि 571 आवंटी पत्रकार ये मानते हैं कि उनके परिवारों की पीड़ा मुख्यमंत्री जी ही समझते हैं। लेकिन उन्होंने अब तक मिलने का समय नहीं दिया है। इस पर ललित कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री जी को 10 तारीख को प्रदेश का बजट पेश करना है। इस कारण अधिक व्यस्तता हो रही है। वे बजट के बाद ही आवंटी पत्रकारों से मुलाकात करेंगे। पत्रकारों ने अपने आवंटन दस्तावेज और ज्ञापन देकर ललित कुमार से कहा कि मुख्यमंत्री जी को दें। इस पर उन्होंने कहा कि रोज आ रहे पत्रकारों के दस्तावेज मुख्यमंत्री जी को पहुंचा रहे हैं।

    उल्लेखनीय है कि 9 जनवरी से रोजाना आवंटी पत्रकार 5-5 के जत्थे बनाकर सीएमआर पहुंच रहे हैं और पिंकसिटी प्रेस एनक्लेव, नायला में आवंटित प्लॉट के दस्तावेज देकर पट्टे जारी करने की मांग कर रहे हैं। जेडीए की भेजी योजना की रिपोर्ट मुख्यमंत्री कार्यालय में है और मुख्यमंत्री को उसके 10 साल से जारी गतिरोध हटाकर जेडीए को निर्देश देने हैं।