केजरीवाल 7 अक्टूबर को जयपुर में, मेक इंडिया नम्बर वन मिशन करेंगे लॉन्च – युवाओं से सीधे संवाद और जनसभा का भी कार्यक्रम – राजस्थान के आमजन में केजरीवाल के दौरे को लेकर उत्साह का माहौल – विनय मिश्रा

31

जयपुर 15 सितंबर 2022।(निक राजनीति) आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 7 और 8 अक्टूबर को जयपुर में मेक इंडिया नम्बर वन मिशन का दूसरा चरण लॉन्च करेंगे। पार्टी के राजस्थान प्रभारी विनय मिश्रा ने बताया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दौरे को लेकर प्रदेश के कार्यकर्ताओं और आमजन में जोश है और यह अक्टूबर में स्पष्ट नजर आएगा।

विनय मिश्रा ने गुरुवार को पत्रकार वार्ता में कहा कि प्रदेश के ग्राम सम्पर्क अभियान में सबसे ज्यादा सवाल आमजन के यही थे कि केजरीवाल प्रदेश में कब आएंगे। जनभावनाओं की कद्र करते हुए मुख्यमंत्री केजरीवाल ने अक्टूबर के प्रथम सप्ताह में अपना कार्यक्रम दिया है। वे जयपुर में 7 अक्टूबर को मेक इंडिया नम्बर वन मिशन लॉन्च करेंगे। इसकी शुरुआत केजरीवाल ने अपनी जन्मभूमि हिसार से की थी। इस कार्यक्रम के जरिए 130 करोड़ देशवासियों से अपील की गई है कि सभी इससे जुड़े और देश को विश्व में नम्बर 1 बनाएं।
मिश्रा ने कहा कि मुख्यमंत्री केजरीवाल टाऊन हॉल कार्यक्रम के तहत जयपुर में युवाओं से सीधे संवाद करेंगे और पत्रकार वार्ता भी करेंगे। 8 अक्टूबर को एक रैली विद्याधर नगर स्टेडियम में आयोजित होगी, जिसमें प्रदेश के हर कोने से आमजन शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि जनसभा के लिए 50 हजार का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जनसभा को लेकर प्रदेश में काफी सकारात्मक माहौल है।
मिश्रा ने कहा कि प्रदेश के कई बड़े चेहरे भी आम आदमी पार्टी के सम्पर्क में है और जल्द ही कुछ बड़े नाम पार्टी के साथ नजर आएंगे। दूसरी पार्टियों के अच्छे लोग आम आदमी पार्टी से जुड़ना चाहते है।
मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में इस समय अराजकता का माहौल है। कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है सरकार की स्वास्थ्य योजनाएं जमीन पर फैल हो चुकी है। खास बात यह है कि यह बात सत्तारूढ़ दल के नेता भी खुलकर कह रहे है। प्रदेश में बजरी माफिया का आतंक इतना ज्यादा है कि कैबिनेट मंत्री खुद लाचार नजर आ रहे है। अस्पतालों में प्रदेश सरकार की स्वास्थ्य बीमा योजना को अस्पताल मान नहीं रहे है। सत्तारूढ़ विधायक को धरना देने पर मजबूर होना पड़ रहा है।
फाइल फोटो

    मिश्रा ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस दोनों नूराकुश्ती में व्यस्त है, आमजन के मुद्दों से इन्हें कोई सरोकार नहीं है। लम्पी बीमारी के चलते हजारों गायें मौत का शिकार हो गई। पश्चिमी राजस्थान के कई जिलों में हजारों पशुपालकों का रोजगार छीन गया लेकिन सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंगी। आम आदमी पार्टी ने सबसे पहले प्रदेश सरकार से लम्पी प्रभावित किसानों को मुआवजा देने की मांग की थी।
    मिश्रा ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत गुजरात में जाकर राजस्थान मॉडल की तारीफ कर रहे है लेकिन वास्तविकता में राजस्थान मॉडल की असलियत जमीन पर उनके नेता स्वयं बता रहे है। प्रदेश में सबसे ज्यादा भ्र्ष्टाचार है, किसान आज भी ऋण माफी के इंतजार में है। युवा एक भी भर्ती बिना धांधली के पूरी होने के इंतजार में है। महिलाएं और बहने अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित है। स्वास्थ्य सेवाएं चरमराई हुई है। बिजली में 50 यूनिट फ्री किया है लेकिन उसके लिए बिजली आनी भी चाहिए। पानी को लेकर पश्चिमी राजस्थान में गम्भीर समस्या है। सड़के कितनी अच्छी है यह मुख्यमंत्री ने स्वयं अपने गृहक्षेत्र जोधपुर में स्वीकार किया है। शिक्षा का स्तर लगातार गिर रहा है, जिसके चलते सरकारी स्कूलों में एडमिशन घटा है।
    मिश्रा ने कहा कि देश में एकमात्र आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में ऑपरेशन लोटस फेल किया है। राजस्थान में भाजपा-कांग्रेस मिले हुए है, यह ग्रामीण क्षेत्रों में आमजन खुद कह रहा है।
    वहीं दिल्ली के विधायक शिव चरण गोयल ने कहा कि पूरे देश में दिल्ली के मॉडल को स्वीकार किया जा रहा है। जगह जगह से एक ही आवाज आ रही है कि हमें चाहिए केजरीवाल सरकार।