घुमंतू जाति के महापड़ाव में शामिल होंगे चालीस हजार घुमंतु, जयपुर में घुमंतु जाति की बस्ती जलाने व अन्य संबंधित मांगों पर सरकार की निष्क्रियता से है नाराज ,, सीरीज -4

42

जयपुर 13 जून 2022।(निक विशेष) जयपुर स्थित घुमंतू जाति की बस्ती में लगाई गई आग के बाद प्रशासन द्वारा अपनाई जा रही निष्क्रियता से नाराज राजस्थान भर के घुमंतु अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति के संगठनों के संयुक्त आह्वान पर आगामी बीस जून को जयपुर के मानसरोवर में लगभग चालीस हजार घुमंतु अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति के पदाधिकारी एवं नागरिक महापड़ाव करेंगे।.

घुमंतु ,अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति परिषद के प्रदेश अध्यक्ष रतन नाथ कालबेलिया ने बताया कि महापड़ाव के समर्थन में जालौर जिले में आयोजित समाज के वार्षिक कार्यक्रम में भी समाज के नेताओं ने घुमंतु अर्ध घुमंतु विमुक्त जाति परिषद के जिला अध्यक्ष विक्रम नाथ नगानी तथा जालौर जिले के समस्त घुमंतू विमुक्त जातियों के पंच पटेलों एवं युवा समाजसेवी साथियों के नेतृत्व में जयपुर में हो रहे महापड़ाव में शामिल होने का आह्वान करते हुए जालौर जिले से एक हजार से भी अधिक लोगों के शामिल होने की सहमति प्रदान की है,
इससे पूर्व गंगानगर में नशा मुक्ति की दिशा में आयोजित सामाजिक कार्यक्रम में शामिल होने आए कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय नेता प्रमोद कृष्णम तथा शराब बंदी अभियान में शहीद हुए गुरुशरण छाबड़ा की पुत्र वधू पूनम छाबड़ा को भी समाज की पीड़ा से अवगत करवाया गया , कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता प्रमोद कृष्णम ने रतन नाथ कालबेलिया के समाज उत्थान कार्यक्रमों की प्रशंसा करते हुए हर संभव समाज के गरीब तबके को न्याय दिलाने मैं मदद करने की बात कही हैं.
गंगानगर ,अजमेर ,जोधपुर , भरतपुर, नागौर आदि जिलों से भी समाज के लोग भारी संख्या में जयपुर के महापड़ाव में शामिल होंगे.

    घुमंतु अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति परिषद के प्रदेश उपाध्यक्ष स्वामी जगदीश महाराज ने बताया कि बांसवाड़ा, उदयपुर , राजसमंद, कोटा, बूंदी, झालावाड़,तथा भीलवाड़ा में आज से लेकर तीन दिन तक महापड़ाव को सफल करने के लिए समाज के नेताओं की बैठक आयोजित की जा रही हैं .सरकार को उनके द्वारा मुख्यमंत्री के नाम सौंपे गए आठ सूत्री मांगो के ज्ञापन में तुरंत कार्रवाई करते हुए जयपुर के मानसरोवर मेट्रो स्टेशन पर भूमाफिया द्वारा जलाए गए बस्ती में रह रहे लोगों को आपातकालीन राहत सहायता उपलब्ध करवानी थी लेकिन सरकार तथा प्रशासन के लोग इस मामले में ढील देते हुए भू माफिया जिनके खिलाफ नामजद रिपोर्ट है उन्हें अप्रत्यक्ष रूप से लाभ पहुंचाने की दिशा में कार्य कर रहे हैं, उक्त भूमि जयपुर विकास प्राधिकरण के नाम पर दर्ज है फिर भी किस आधार पर भूमाफिया इस पर अपना हक जता रहे हैं इस दिशा में सरकार को तुरंत जांच करना चाहिए
    घुमंतू,अर्ध घुमंतु एवं विमुक्त जाति परिषद के प्रदेश अध्यक्ष रतन नाथ कालबेलिया ने चेतावनी देते हुए बताया है कि अगर बीस तारीख के महापड़ाव के बाद भी सरकार नहीं जागती हैं तो प्रदेशभर के घुमंतु अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति के साढे तीन लाख लोगों के साथ राजस्थान की राजधानी जयपुर में अनिश्चितकालीन महापड़ाव किया जाएगा.