सबसे पहले वक़्फ बोर्ड की जमीनों पर अतिक्रमण हटाए जाएंगे यह नवनिर्वाचित वक्फ बोर्ड के चेयरमैन खानू खां बुधवाली का पहला वक्तव्य था पदभार ग्रहण करते समय,, तो अब बताएँ घाटगेट पर अवैध मैजिक व बसों का संचालन कब होगा बन्द ? कब वहीँ पर खुलेआम चल रहे सट्टे/जुए होंगे बन्द ? कब होगी वक़्फ बोर्ड की जमीन अतिक्रमण मुक्त? RTO भी कब करेगा कार्यवाई ? सरकार,परिवहन विभाग कब ध्यान देगें,, मिलने लगीं है धमकियाँ,घाट गेट सट्टा संचालक हिस्ट्रीशीटर की ओर से, कौन-कौन है लिप्त शीघ्र होगा खुलासा, सनद रहे, NEWINDIA खबर को दलालों,मुखबिरोँ व धमकी देने वालोँ से सख्त नफरत,,

343

जयपुर 24 जनवरी 2022।(निक क्राइम)घाटगेट बस स्टैंड पर हो रहे अतिक्रमण पर किसी का ध्यान नहीं है । आप पाएंगे यहाँ बरसों से वक़्फ बोर्ड की जमीन पर कब्जा है।
ताजा स्थिति पर गौर करें तो पायेंगे अवैध रुप से वहाँ पर मच्छी बाज़ार बना दिया गया है। अवैध बसों व मैजिको का संचालन हो रहा है,साथ ही खुले आम पर्दे की आड़ में जुआ सट्टा खिलाया जा रहा है।

इस बाबत जब पार्षद उमरदराज से कुछ दिनों पूर्व बात हुई तो उनका साफ कहना था माफिया और हिस्ट्रीशीटर पुलिस की सरपरस्ती में पल रहे हैं। बस स्टैंड से अंकुर सिनेमा की जमीन वक़्फ बोर्ड की है। पहले बोर्ड का कोई धणी धोरी नहीं था कोर्ट में भी केस चल रहा था। घाट गेट पर चल रही ज्यादा गतिविधियां और साथ ही किए गए अतिक्रमण वह सब अवैध है।
जब हमारी खानुँ खाँ बुधवाली वक़्फ बोर्ड के नए अध्यक्ष से बात हुई तो उन्होने ने भी इसे स्वीकारा।
अब जब उन्होनें व्क़्फ बोर्ड के चैयरमैन का पदभार ग्रहण किया तो बुधवाली का पहला कथन यही था की बोर्ड की सम्पत्तियों से अतिक्रमण हटाया जायेगा। अब देखना होगा दिलचस्प की अपने सार्वजनिक दिये वक्तव्य पर कब एक्शन होगा।

*Open link for this news*👌

*वक्फ बोर्ड की जमीन पर अवैध कब्जा*

*SUBSCRIBE OUR CHANNEL CONTACT ME FOR YOUR NEWS ON WHATSAPP 8107068124*

    आरटीओ राजेश वर्मा ने न्यू इंडिया खबर से कहा कि हम शिकायत पर जरूर कार्यवाही करेंगे लेकिन उनको ना जाने कब कोई शिकायत करेगा नाही वह कोई वह कार्रवाई करने को तैयार है। जबकी उन्ही के परमिट विभाग के एक कर्मचारी ने ऑफिशिअल रूट नम्बर 25 के parmited holder से बात की तो उसने भी घाट गेट से संचालित मैजिको को अवैध बताया।
    ठेकेदार से भी इस बाबत शिकायत मांगी गयी थी। उस समय न्यू इण्डिया खबर मौजुद था।

    RTO राजेश वर्मा,

    अब समझने की बात है आरटीओ साहब की जब हम आपको सब चीज दिखा रहे थे । आपका वर्जन ले रहे थे। आपने वर्जन भी दिया तो आप किस तरह की शिकायत चाहते हैं ? स्पश्ट करें।