वरिष्ठ पत्रकार गोपाल गुप्ता पर जानलेवा हमला,विगत 3 दिनों से घर आ कर दे रहा है जान से मारने की धमकी,, सांगानेर एसएचओ हरिसिंह दूधवाल कहते हैं वह पागल है, हम उसे थाने नहीं रख सकते,, तो क्या कोलोनिवासियों पर हमले के लिए खुला छोड दोगे ? पत्रकारों में रोष व्याप्त,लामबन्द होने की तैयारी,,

670

सुनियोजित तरीके से पत्रकार पर जानलेवा हमला

जयपुर 6 नवंबर 2021।(निक क्राइम) सांगानेर थानांतर्गत प्रताप नगर हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी निवासी वरिष्ठ पत्रकार पर पड़ौसी ने सुनियोजित तरीके से जानलेवा हमला कर घायल कर दिया । पत्रकार ने बमुश्किल अपनी जान बचाई।
मामला सांगानेर थाने का है,सेक्टर 63. निवासी जयपुर पल्स के सम्पादक वरिष्ठ पत्रकार गोपाल गुप्ता 2 नवम्बर दोपहर 12. बजे अपने निवास से अपने समाचार पत्र के कार्यालय मालवीय नगर जाने के लिए अपनी कार से रवाना हुए की पड़ौसी के छोटे भाई जगदीश ने गाड़ी रुकवाई । गोपाल गुप्ता गाड़ी में से जैसे ही उतरे जगदीश ने पीछे छुपाये हुए डंडे से चार पांच वार कर दिए,और गालियां देने लगा कहने लगा आज में तेरी पत्रकारिता निकालता हूँ ।

आज तुझे जान से मरूंगा, अचानक हुए इस हमले से गुप्ता जैसे ही सम्भले, उन्होंने अपने बच्चो को आवाज लगाई जब तक बच्चे दूसरी मंजिल से नीचे आते जगदीश अपने घर के अंदर चला गया। गुप्ता एवं उनके बच्चों ने जगदीश के बड़े भाई साधुराम को आवाज लगाई कोई बाहर नहीं आया, गुप्ता कपडे बदल कर थाने गए जंहा स्वयं थाना इंचार्ज हरी सिंह दूधवाल से मिले,समस्त घटना बताई, उन्होंने पीसीआर भेजकर उसे पकड़ने का आश्वाशन दिया, परन्तु कोई पीसीआर उसे पकड़ने नहीं आयी, ना ही साधुराम घर आया सांय 4. बजे बाद उसने फिर गाली गलौंच और जान से मरने की धमकी दी, तो गुप्ता ने पुनः थाने जाकर अपनी FIR जिसका नंबर 0563. है लिखवाई। परन्तु रात्रि तक कोई पुलिस वाला उसे पकड़ने नहीं आया। दूसरे दिन 3 तारीख को गुप्ता का मेडिकल कराया गया बाकि समस्त कागजी कार्यवाही तो पूर्ण करली,परन्तु जगदीश को नहीं पकड़ा गया।

    गुप्ता ने कई बार थाने पर जाँच अधिकारी कृष्ण लाल को फोन किया परन्तु सांय तक कोई पोलिस पार्टी उसे गिरफ्तार करने नहीं आयी। सांय 6.बजे बाद जगदीश धारदार हथियार(बड़ा नुकीला चिमटा) लेकर घर पर आ गया फिर गाली गलोच करने लगा कहने लगा की बाहर निकल तुझे जान से मारूंगा।
    थाने फोन किया पीसीआर आकर उसे ले गयी और यह कहकर छोड़ दिया की यह तो पागल है । हम इसे थाने में बंद करके नहीं रख सकते ,अब हालात यह हैं की न तो जाँच अधिकारी फोन उठता और न ही थानाधिकारी हरीसिंह बात करते है। पत्रकार गुप्ता ने बताया सभी का एक ही जबाब है वो पागल है। गुप्ता ने जब थानाधिकारी से पूछा की क्या उसके पास पागल का प्रमाणपत्र है तो इधर उधर की बात कर कहने लगे की वो पागलपन की दबाई ले रहा है। जगदीश आज भी खुला घूम रहा है और किसी न किसी तरह सभी घरवालों को डरा धमका रहा है जान से मरने की धमकी दे रहा है।

    5 लाख 25 हजार से अधिक व्यूवर्स / पाठकों के विस्वास के लिए आभार,, sunny atrey एडिटर

    अपनी जायज समस्याओं के लिए हमसे संपर्क करें
    व्हाट्सएप नंबर 8107068124