पत्रकार को धमकी, फिर एक और धमकी, अब शराब व्यापारी से हफ्ता वसूली के मामले में परिवाद दर्ज हुआ है मानसरोवर थाने में एपीओ मानसरोवर संजीव चौधरी के नाम, पूरी खबर पढ़ें उससे पहले एक कहावत,, शरीर का अगर एक अंग खराब हो जाए तो उसे काट देना ही बेहतर होता है, लेकिन यह कहावत शायद पुलिस महकमे में चरितार्थ नहीं होती दिख रही ,,

1117

जयपुर 20 सितंबर 2021 (निक क्राइम) वरिष्ठ पत्रकार सन्नी आत्रेय को धमकाने के मामले में संजीव चौधरी का नाम सार्वजनिक रूप से सुर्खियों में आया था। उसके बाद वकीलों से झगड़े के मामले में संजीव चौधरी को डीजीपी ने एपीओ कर दिया। मामला यहीं नहीं थमा एक और धमकी के मामले में पीठासीन अधिकारी आरजेएस स्वाति राव ने जाँच के आदेश देते हुए पुलिस कमिश्नर से 20 अक्टूबर तक जांच कर रिपोर्ट मांगी है। हाल ही के दिनों में देखा जाए तो पुलिस विभाग के चंद आला अधिकारियों की कारगुजारिया सामने आ रही है जोकि राजस्थान पुलिस की स्वच्छ छवि पर बदनुमा दाग लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे । हीरालाल सैनी के अश्लील वीडियो का मामला हो या एसीबी द्वारा घूस के मामले में पुलिस कर्मियों पर कार्यवाही की बात हो।

बात करते हैं संजीव चौधरी के हफ़्ता वसूली के ग़ज़ब फ़ंडे कि । एक बार फिर संजीव चौधरी की घिनौनी करतूत का वीडियो आया सामने हफ्ता वसूली के लिए RPS अधिकारी ने दर्ज किए दो फर्जी मुकदमे कारण शराब व्यापारी ने नहीं दिया हफ्ता,तो RPS संजीव चौधरी ने एक्साइज एक्ट में कर दी फर्जी कार्रवाई। 16 दिसंबर 2020 का है ये पूरा मामला मानसरोवर थाना इलाके के नारायण विहार में एक शराब की दूकान के बाहर ही की गई कार्रवाई।परिवादी के अनुसार उनका गनमैन भी था कार्यवाई मे शामिल,गौरतलब है कि वरिष्ठ पत्रकार सन्नी आत्रेय को भी संजीव चौधरी ने गनमैन के फोन से ही धमकी दी थी जिसे जांच मे डीसीपी दक्षिण ने अनावश्यक वार्ता बताया था। हुआ यूँ कि RPS ने अवैध शराब सप्लाई का झूठा मामला बना परिवादी के ख़िलाफ़ की थी कार्रवाई और उस दौरान शराब कारोबारी की एक लग्जरी गाडी और बोलेरो एक्साइज एक्ट में की जब्त कर ली।

परिवादी की शिकायत,,

कार्रवाई में RPS ने गाडियों से शराब सप्लाई किया जाना बताया ।लेकिन हालफिलहाल वायरल हुए एक चौंकाने वाले वीडियों से खुल सकती है घटना की पोल। व्यापारी को फंसाने के लिए खुद पूर्व एसीपी संजीव चौधरी ने गाडियों में रखवाए थे शराब के कार्टन, हुक्का समेत अन्य सामान,,वीडियों में संजीव चौधरी ने खुद अपने गनमैन और ड्राइवर के साथ मिलकर की गई करस्तानी साफ नजर आ रही है, अब इसकी जांच की जा रही है जल्दी ही तस्वीर साथ नजर आ सकती है बशर्ते जाँच निष्पक्ष हो।
गाडी में शराब रख कंट्रोल रूम और उच्चधिकारियों को सूचना देने के बाद पुलिस ने कार्रवाई कर गाडी जब्त कर एक्साइज में दर्ज किए दो मामले ।

    पूरी घटना का सोशल मीडिया पर वीडियो जमकर हो रहा है वायरल।
    हाल ही में परिवादी ने कमिश्नर आंनद श्रीवात्सव समेत एसीबी में दी दो पन्ने की शिकायत।जिसमें हफ्ता वसूली और गाडी छोडने के लिए 2 लाख रूपये की डिमांड करने का भी लगाया है आरोप
    पूर्व एसीपी को दैनिक महँगी शराब, मीट और अन्य ज़रूरत पूरा करने के लगाए आरोप । रंजिशवश फ़र्ज़ी कार्रवाई करने के लगाए आरोप
    मामले को लेकर अब एक एडिशनल एसीपी को सौंपी गई जाँच।

    वरिष्ठ पत्रकार सन्नी आत्रेय को 8 दिसंबर 2020 को धमकी दी थी संजीव चौधरी ने

    सूत्रों के हवाले से खबर पुलिस वालों की इन हरकतों को देखते हुए डीजीपी लाठर ने विजिलेंस विभाग को सख्त निर्देश दिए हैं कि ऐसे पुलिसकर्मियों की वास्तविक रिपोर्ट देने को,,