स्वरोजगार को प्रोत्साहित करने को दी जाएगी प्राथमिकता, जिससे बढेंगे रोजगार,, मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना में संशोधन,, पढें पूरी खबर,,

697

जयपुर 26 अगस्त 2021।(निक विशेष) अशोक गहलोत सरकार प्रदेश की अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए लगातार महत्वपूर्ण एवं संवेदनशील निर्णय ले रही है। इसी कडी में रोजगार के अवसर बढ़ाने तथा सरोजगार्व को प्रोत्साहित करने के लिए मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना को संशोधित कर उद्यमियों के लिए अधिक सुगम और लाभकारी बनाया जाएगा ।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने योजना के प्रावधानों और इसके लिए मार्गदर्शिका में संशोधन के प्रस्ताव को अनुमोदित कर दिया है जलो द्वारा अनुमोदित प्रस्ताव के अनुसार योजना के अंतर्गत ऋण ब्याज अनुदान के लिए भारत सरकार द्वारा परिभाषित सूक्ष्म एवं लघु उद्योग की पात्र होंगे साथ ही ब्याज अनुदान के लिए आवेदन प्रक्रिया को कई स्तर पर सर लेकर किया जाएगा नई प्रस्ताव के अनुसार हस्तशिल्प दस् कार तथा शिल्पी कार्ड धारकों को ₹3 लाख तक के ऋण पर ब्याज राशि का शत प्रतिशत पुनर्भरण अनुदान के रूप में दे होगा बुनकर कार्ड धारक बुनकरों के लिए ₹1 लाख तक के ऋण पर ब्याज राशि के 100% पुनर्भरण की वर्तमान में प्रचलित सुविधा जारी रहेगी।

    योजना के तहत सूक्ष्म उद्यमों को व्यापार हेतु अधिकतम 1 करोड रुपए कारण मिल सकेगा गहलोत ने बताया कि संशोधित मार्गदर्शिका के अनुसार सूक्ष्म श्रेणी के उद्यमियों के साथ-साथ कम ऋण की मात्रा वाले आवेदनों को प्राथमिकता से प्रधान कराया जाएगा ताकि अधिकाधिक संख्या में छोटे उपक्रम लगाकर उद्यमियों को लाभान्वित किया जा सके।

    4 लाख 77 हजार से अधिक पाठक/व्यूवर्स/विजिटर्स,,
    आप सबके विश्वास और स्नेह के लिए बहुत बहुत धन्यवाद
    जुड़ने के लिए WHATSAPP 8107068124