फॉरेक्स ट्रेडिंग के नाम पर करोड़ो की ठगी के मास्टरमाइंड सहित 4 युवक गुजरात से गिरफ्तार, 10वीं फेल सरगना, बीई-बीटेक किये हुए युवकों से करवा रहा था ठगी,,

112

राजसमन्द 26 अगस्त। मार्बल व्यवसायी के साथ फोरेक्स ट्रेडिंग के नाम पर ऑनलाईन ठगी करने वाले गिरोह के मास्टरमाइंड सहित 4 ठगों को जिले की डीएसटी एवं साईबर टीम ने गुजरात से गिरफ्तार कर लिया। इस गिरोह का मास्टर माईंड खुद 10वीं फेल है जबकि गिरोह में बीई व बीटेक किये हुये लोगो को रख रखा है। इन्होंने
गूगल प्ले स्टोर पर आईटीसी ट्रेड नाम की फर्जी एप्लीकेशन तैयार कर रखी है जिसके द्वारा लोगों से ठगी की जाती है।

एसपी सुधीर चौधरी ने बताया कि गिरफ्तार मुख्य आरोपी रेहान खान पुत्र अब्दुल शमद (19) सूरत, गुजरात का रहने वाला है। इसके साथ अमीश दुबे पुत्र प्रमोद दुबे (28) निवासी जिला रोहताश, बिहार, मोहम्मद जेद पुत्र मोहम्मद शोएब (23) एवं मदनी पुत्र इजाज कलुदी (20) निवासी सूरत गुजरात को भी गिरफ्तार किया गया है। इस गिरोह द्वारा राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, गुजरात, मुम्बई व अन्य राज्यों के कई लोगो को फोरेक्स ट्रेडिंग के नाम पर ठगी का शिकार बना करोड़ों रूपयो की ठगी की जा चुकी है। जिनसे और भी मामले खुलने की संभावना है।
आईटीसी ट्रेड नाम की फर्जी एप्लीकेशन से करते हैं ठगी–

    गिरोह के मास्टर माईन्ड रेहान द्वारा गुगल प्ले स्टोर पर आईटीसी ट्रेड नाम की फर्जी एप्लीकेशन बना रखी है, जिसमें फोरेक्स ट्रेडिंग की मार्केटिंग उतार चढाव को दर्शाता है जो स्वयं रिहान के हाथ में रहता है कब कितना शौ करना है व स्वयं करता है। उसके बाद सर्वप्रथम अपने दोस्तों के परिचित जो पैसो की तंगी से जुझ रहे हो उनको टारगेट बनाता है और उनके बैंक खातें खुलवाकर उनके चैक बुक, एटीएम कार्ड , ऑन लाईन बैंकिंग के लाॅग इन आईडी पासवर्ड ले लेता है। जिसके बदले में उन्हे कुछ राशि दे देता है।
    *10वीं फेल ठग ने कमीशन के बदले रख रखे है एक्सपर्ट*
    19 वर्षीय रेहान गिरोह के दूसरे सदस्यों को कमीशन के आधार पर अपनी टीम में शामिल करता है। गिरोह के सदस्य जैद बैंलिम को रेहान लोगो के मोबाईल नम्बर व नाम की सूची उपलब्ध करवाता है। उसके बाद जैद बैलिम टारगेट किये गये लोगों को फोरेक्स ट्रेडिंग करने के बारे में जानकारी देकर मुनाफे का लुभावना ऑफर देकर अपने जाल में फसाता है जैसे ही उसके द्वारा फोरेक्स ट्रेडिंग करने के लिये हाॅ भर दी जाती है तो रेहान के द्वारा दिये गये बैंक खाते में पीड़ित से पैसा जमा करा लेते । जैसे ही पैसा खातें में जमा होता है तो तुरन्त बाद रेहान उन खातों से पैसा अन्य बैंक खातों में ट्रान्सफर कर देता है। गिरोह का तीसरा सदस्य मदनी पैसा खातों में आते ही विड्राल कर लेता है।
    *यह है पूरा मामला*
    एसपी चौधरी ने बताया कि 29 जुलाई,2021 को राजनगर निवासी राकेश लड्ढा ने उनके कार्यालय में एक परिवाद पेश किया की फोरेक्स ट्रेड में पैसे इन्वेस्ट करने के नाम पर उससे करीब आठ लाख रूपयें की ठगी की गई व अब उनके द्वारा काॅल नहीं उठाया जा रहा है। परिवाद की जांच में ठगी होना पाया जाने से अज्ञात व्यक्तियों के विरूद्व थाना राजनगर पर धोखाधड़ी व आईटी एक्ट की धाराओं में प्रकरण पंजिबद्व किया जाकर सीओ राजसमन्द बैनी प्रसाद मीणा को जांच अधिकारी नियुक्त कर डीएसटी प्रभारक मुंशी मोहम्मद, साईबर सैल प्रभारी पवन सिंह एवं थानाधिकारी राजनगर प्रवीण सिंह के नेतृत्व में दो टीमों का गठन किया गया।
    गठित टीम ने मामले को गंभीरता से लेते हुये त्वरित कार्रवाई कर हुये बेसिक पुलिसिंग व तकनीकी सहायता से चार ठगों को गुजरात से डिटेन कर पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया। जिन्हें कोर्ट में पेश कर पुलिस रिमांड पर लेकर गहनता से पूछताछ की जा रही है।
    ————-