न्यू इंडिया खबर ने विगत 2 साल से गुमनाम जिन्दगी जीने को मजबूर पीड़ित युवती की आंखों में आंसू और दर्द को महसूस किया था उस दिन, जिस दिन मीडिया से मुखातिब हुई थी वह, अजमेर डेयरी के चेयरमैन रामचंद्र चौधरी पर लगाया था बलात्कार का आरोप, रामगंज में दर्ज है एफ आई आर ,, शायद जयपुर में ही 5/7 दिनों से भ्रमण पर हैं परमानेन्ट चेयरमैन रामचंद्र चौधरी,देखें पूरी खबर, सीरीज- 2

708

जयपुर 20 अगस्त 2021।(निक क्राइम) कुछ दिन पूर्व उस दौरान अजमेर डेयरी में संविदा कर्मी के रूप में काम करने वाली पीड़िता ने मीडिया के सामने प्रस्तुत होकर अजमेर डेयरी के चेयरमैन रामचंद्र चौधरी पर बलात्कार का आरोप लगाया था, जिसकी f.i.r.थाना रामगंज में दर्ज है। इसके जवाब में रामचंद्र चौधरी ने माननीय उच्च न्यायालय में 482 की याचिका पेश की जिसे उच्च न्यायालय ने 12 अगस्त को खारिज कर दिया।
पीड़िता ने बताया कि 2 साल से धमकियों के साए में मानसिक प्रताड़ना झेलने को मजबूर हूं,यह मै बयाँ नहीँ कर सकती। मेरा कैरियर दांव पर है । इस संबंध में जब अजमेर में sho से बात हुई तो उन्होंने कहा कि ऊपर से आदेश के बाद कार्यवाही तुरंत की जाएगी, गिरफ्तारी होते ही चालान पेश कर दिया जाएगा।

अब सवाल यह उठता है कि आखिर पुलिस भी करें क्या,2 साल से अब तक कार्यवाही जस की तस क्यों है । लेकिन धारा 376 में दर्ज मुकदमे को पुलिस तफ्तीश में 354 बताने में कार्रवाई तुरंत की गई यह भी सवालिया निशान खड़ा करता है,

    लेकिन पुलिस भी करे क्या राजनीतिक रसूख रखने वाले रामचंद्र चौधरी 20 से अधिक सालों से अजमेर डेयरी के निर्विरोध चेयरमैन बने हुए हैं सूत्रों के हवाले से चर्चा है कि कहीं बलात्कार की f.i.r. ही तो भाजपा से कांग्रेस में शामिल होने की वजह नहीं बनी है। राजनितिक गलियारों में यह भी सुनने में आ रहा है कि भूपेंद्र यादव को फोन कर यह कहा गया है कि पूरा सहयोग रहेगा आपके साथ।
    सत्ता में काबिज बने रहना तो सभी की इच्छा रहती है उसमें भी हमें कोई आपत्ति नहीं है। राजनीतिक विकास,स्वयं के विकास के लिए आज 21 सदी में यह सब जायज है।
    पर चहेतों को खूब रेवणिया बांटो और अच्छे अच्छे पदों से सुशोभित करों। लेकिन उन्हें यह तो कह दीजिए की अपने क्षेत्र की समस्याओं को निपटाने के साथ विकास की गति को तेज किया जाए और इस तरह के आरोप लगना अच्छी बात नहीं है ।
    ऑफ द रिकॉर्ड न्यू इंडिया खबर से युवती ने बताया कि काफी दबाव है उस पर एक पत्रकार साथी के जरिए मैसेज कराया गया है की ढोक दे देंगे जो इच्छा है वह ले लो, मेरा पीछा छोड़ो।
    इस बात की पुष्टि हम नहीं करते हैं लेकिन शक जरूर गहराता है क्योंकि जब न्यू इंडिया खबर ने सच्चाई के साथ यह खबर चलाई थी जो कि काफी वायरल हुई,तो कांग्रेस के छुट भैया नेता ने जो पत्रकारों में उठबैठ रखते हैं ने NEWINDIA को व्हाट्सएप कॉल किया जब मैंने नहीं उठाया तो उन्होंने दूसरे नंबर से मुझे कॉल किया और कहा कि मेरा व्हाट्सएप नंबर उठाओ, मुझे उम्मीद नहीं थी कि वह रामचंद्र चौधरी के विषय में चर्चा करेंगे । हमने जो भी खबर चलाई है वह पीड़िता द्वारा उपलब्ध f.i.r. और उसने जो कहा उस आधार पर चलाई है और परमानेन्ट अञमेर डेयरी चैयरमैन रामचंद्र चौधरी को चैनल और पोर्टल दोनों की खबरों में कहा गया है कि अपना वर्जन दें हम आपकी बात को भी सार्वजनिक करेंगे । फिर उसी रात को रामचंद्र चौधरी से बातचीत हुई न्यूइन्डिया खबर की, चौधरी ने पहले कहा जो आप कहो वह कर लेंगे,तो न्यूइन्डिया खबर ने कहा कुछ नहीं करना है सिर्फ आपको अपना वर्जन देना है।।(वर्जन का आज भी इन्तजार) फिर बाद में उसी छुट भैया कांग्रेसी नेता ने किसी और पत्रकार के माध्यम से सूचना दिलवाई कि वह वर्जन नहीं देंगे ।
    दूसरे दिन कोई और पत्रकारों ने भी रामचंद्र चौधरी का पक्ष लेते हुए मुझसे बातचीत की तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि रामचंद्र चौधरी अपने रसूख के चलते पीड़िता को धमका भी सकता है उसे लेन-देन करने के लिए भी मजबूर कर सकता है ।
    रामचंद्र चौधरी की यह समझले के आपके पक्षकार जो भी हैं या थे क्या वह अजमेर से जयपुर आने पर आप अपने डेयरी उत्पाद उनको देते रहते हो इसलिए वह आपके पैरोंकार है ?
    हम तो अपनी बात सच्चाई के साथ रखते हैं जिसे आपत्ति हो वह आपत्ति दर्ज करा दे उस आपत्ति को भी सार्वजनिक किया जाएगा

    न्यूइन्डिया खबर ने यहीं सीखा है कि सीधी बात कीजिए बीच में दलालों के जरिए बात करने से दलाल अपना नजरिया पेश करते हैं यह सभी क्षेत्रों में है पत्रकार जगत में भी हैं,राजनीति में भी है।
    एक पत्रकार दूसरे पत्रकार को छोटा ही समझता है ऐसे ही पुलिस महकमे में भी यह व्याप्त है। पत्रकार कोई छोटा कोई बड़ा नहीं होता,कार्यकर्ता कोई छोटा कोई बड़ा नहीं होता, कोई पुलिसकर्मी छोटा या बड़ा नहीं होता। विचार बड़े होते हैं और अपने कर्म के प्रति ईमानदारी बड़ी होती है न्यू इंडिया खबर का सिर्फ आला अफसरों से,विभाग से यही गुजारिश है कि तुरंत कार्रवाई कर इस मामले की गंभीरता को समझें 2 साल से पीड़ित युवती के जीवन में उसकी मानसिक स्थिति को समझते हुए 12 अगस्त को उच्च न्यायालय ने 482 खारिज करने के निर्णय से उसे उम्मीद जगी कि है कि “न्याय और सच्चाई अभी बाकी हमारे इस लोकतंत्र में”,,
    अगली किस्त का करें इन्तजार,
    WHATSAPP 8107068124 पर
    अपने विचार अवश्य करे

    प्रेस कॉन्फ्रेंस की खबर को देखने के लिए नीचे दिए हुए लिंक खोले

    *Open link for this news*

    *हमारे चैनल को SUBSCRIBE जरूर करें तभी दिखा पाएंगे हम सच्चाई के साथ खबर*
    *इस खबर को ज्यादा ज्यादा वायरल करें जिससे दुष्कर्मियों को सबक मिले*
    *रामचंद्र चौधरी अपनी बात कहना चाहे तो हमसे संपर्क कर सकते हैं*
    *whatsapp 8107068124*

    इस खबर का लिँक भी खोले,

    74 साल के रामचन्द्र चौधरी ने बेटी समान युवती के साथ ऑफिस चैम्बर में किया बलात्कार, रामचन्द्र अजमेर डेयरी के चैयरमैन हैं, दो साल से पीडिता को धमकाने,मुकदमा वापिस लेने का दबाव बनाने के साथ उसे मानसिक प्रताडित किया जा रहा है,, माननीय उच्च न्यायालय ने चौधरी की 482 की याचिका खारिज कर पीडिता को राहत प्रदान की,, युवती ने अजमेर डेयरी के स्टाफ पर भी गम्भीर आरोप लगाये,, अब जांच तो बनती है,

    74 साल के रामचन्द्र चौधरी ने बेटी समान युवती के साथ ऑफिस चैम्बर में किया बलात्कार ? पीड़िता ने लगाया आरोप,एफआईआर मे दर्ज है धारा 376 ,रामचन्द्र अजमेर डेयरी के चैयरमैन हैं, दो साल से पीडिता को धमकाने,मुकदमा वापिस लेने का दबाव बनाने के साथ उसे मानसिक प्रताडित किया जा रहा है,, माननीय उच्च न्यायालय ने चौधरी की 482 की याचिका खारिज कर पीडिता को राहत प्रदान की,, युवती ने अजमेर डेयरी के स्टाफ पर भी गम्भीर आरोप लगाये,, अब जांच तो बनती है,

    4 लाख 70 हजार से अधिक पाठक/व्यूवर्स के विस्वास के लिये बहुत आभार,, सच के साथ -सच की आवाज,NEWINDIA खबर