कोराना बीमारी से मरने वाले किसानों का बैंक लोन व सहकारी समिति के ऋण माफ करने को लेकर मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को सौंपा ज्ञापन,,,

189

कोटपूतली से बजरंग सैनी की रिपोर्ट,,

राधेश्याम शुक्लावास- जन आंदोलनों के राष्ट्रीय समन्वय NAPMराजस्थान के साथी व तहसील कोटपुतली-पावटा के सरपंचगण समर्थन

कोटपूतली दिनांक 21/6/ 2021।(निक सामाजिक) कोटपूतली उपखंड अधिकारी सुनीता मीणा को मुख्यमंत्री राजस्थान सरकार के नाम ज्ञापन दिया गया ! कोविड-19 मैं मृत किसानों का कृषि ऋण (KCC)व सहकारी समितियों के ऋण माफ करने को लेकर ज्ञापन दिया गया ।
राजस्थान सरकार ने जिस तत्परता से और सूझबूझ से कोविड-19 का मुकाबला किया है वह निश्चय ही सराहनीय है फिर भी ग्रामीण क्षेत्रों में बहुत से किसान परिवार कोविड-19 की चपेट में आए हैं आपसे नम्र निवेदन है कि गत 1 वर्ष में कोविड-19 से जिन किसानों की मृत्यु हुई है जिन पर फसल ऋण (KCC) व सहकारी बैंकों के ऋण बाकी है उनका ऋण माफ किया जाए जिन परिवारों में कमाने वाले व्यक्ति चले गए ओर पहले ही मानसिक अवसाद से ग्रस्त हैं और कुछ पर बैंकों की बेरहम वसूली का डंडा चल रहा है । अधिकांश किसान परिवार गहरे सदमे में हैं जो अपने डोर -डंनगर बेचने पर मजबूर हैं। ऐसे माहौल में सरकार से विनम्र अनुरोध है कि कांग्रेस सरकार किसानों के प्रति उदार एवं संवेदनशीलता दिखाते हुए उपयुक्त समस्या पर समुचित ध्यान देकर इसका निवारण करेंगे।

ज्ञापन में कोटपूतली और पावटा के करीब दो दर्जन सरपंचो सहित कई अन्य सामाजिक संगठनों इस मांग का समर्थन किया है हस्ताक्षर किए हैं ।
ज्ञापन सामाजिक कार्यकर्ता राधेश्याम शुक्लावास की नेतृत्व दिया गया । श्रीमती बसंती देवी पूर्व सरपंच द्वारिकपुरा ,एडवोकेट हर्षवर्धन शर्मा, विक्रम पिचानी, पवाना अहिर सरपंच पूरणमल खटीक, आदि ज्ञापन देने में सिर रहे।।