पीरियोडिकल प्रेस ऑफ़ इंडिया ने फिर एक बार सामाजिक सरोकार की परम्परा का निर्वहन करते हुए , पीपीआई दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष व हिमाचल प्रभारी राजेश ठाकुर ने मंडी जिला के पंडोह इलाके के निवासी हेतराम की बेटी की शादी के लिए सहयोग दिया,,

312

1.हिमाचल के हर गांव से होंगे 5 कोर्डिनेटर:राजेश ठाकुर

2.मदद जगरूकता अभियान के तहत द इंपीरियल फाउंडेशन का गांव जोड़ो अभियान शीघ्र ही शुरू होगा ।

द इंपीरियल फाउंडेशन के चीफ कोर्डिनेटर का एलान
शादी -विवाह,शिक्षा व स्वस्थ्य के क्षेत्र में जरूरत मंद बहन -बेटियों सहित सभी वर्ग की मदद करना फाउंडेशन की प्राथमिकता होगी ।

3.समाजिक क्षेत्र में प्रत्येक जरूरत मंद व्यक्ति को आत्म निर्भर बनाने के लिए जमीनी स्तर पर काम करेंगे ।
इस अभियान के तहत ही मंडी जिला पंडोह निवासी एक बहन की शादी के लिए मदद की ।

मंडी 15 मार्च 2021।(निक सामाजिक)सफलता पाने का सपना हर व्यक्ति का होता है,लेकिन आर्थिक कमजोरी उनके जीवन मे कहीं न कहीं एक बहुत बड़ी बाधा बनकर खड़ी हो जाती है ।
जिसके चलते कई बार सफलता की मंजिल तक नही पंहुच पाते है ।
अगर शिक्षा व स्वस्थ्य के क्षेत्र में समाजिक तौर पर प्राइमरी कार्य जमीनी स्तर पर किये जाये, तो इससे आने वाले समय मे प्रत्येक व्यक्ति आत्म निर्भय बन सकता है । यह बातें पीरियोडिकल प्रेस ऑफ इंडिया के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष व जम्मू कश्मीर, पंजाब,हरियाणा,हिमाचल प्रदेश के प्रभारी राजेश ठाकुर ने अपने हिमाचल प्रदेश दौरे के दौरान कही ।
पीपीआई दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष व हिमाचल प्रभारी राजेश ठाकुर मंडी जिला के पंडोह इलाके के निवासी हेतराम की बेटी की शादी के लिए सहयोग देने आये है ,उन्होंने कहा कि हेतराम एक मेहनत मजदूरी करने वाला व्यति है ,लेकिन पिछले कुछ वर्षों से हेतराम का परिवार बहुत ही तकलीफों व परेशानियों का सामना करने को मजबूर है ,
पीपीआई दिल्ली अधयक्ष व हिमाचल प्रभारी राजेश ठाकुर ने द इंपीरियल फाउंडेशन के चेयरमैन अमित गुप्ता और हिमाचल मित्र मंडल के चीफ पैटनर किशोरी लाल शर्मा व उनके युवा साथी नवल राणा एवं मण्डल के समस्त महानुभाव सहयोगकर्ताओं का शादी के लिए किये सराहनीय कार्य व दिए गए सहयोग पर विशेष आभार व्यक्त किया है ।
हेतराम का परिवार पिछले तकरीबन 6 वर्षो से अंधेरे में जीवन जीने को मजबूर है ।मामला घर की जमीन का है ,जो वन विभग की जमीन बताई जा रही है,बताया जा रहा है कि हेतराम जी के पिता जी ने 1970 के दशक में यहां एक 2 कमरों का छोटा सा मकान बनाया था ,जिसकी आज खस्ताहालत हो चुकी है,वह भी टूटने के कगार पर है गांव के किसी रसूखदार ने वन विभाग से इसकी शिकायत की कि हेतराम ने वन विभाग की जमीन पर घर बनाया है ,
और फिर देखिए वन विभाग हेतराम जी के घर को अपनी जमीन पर बना हुआ , एक रसूखदार की शिकायत पर वन विभाग ने हेतराम के परिवार के घर तुरन्त कार्यवाही कर दी ,वन विभाग ने इतनी तीब्रता से कार्यवाई की कि तुरन्त बिजली विभाग को बुलाकर हेतराम के घर की बिजली ही काटव दी ,अब लगभग 6 वर्ष हो गए है हेतराम के घर की बिजली कटे हुए,जिसका मामला कोर्ट में अभी विचाराधीन है ,

सबसे बड़ा एक सवाल की जब 1970 के दशक में यह छोटा सा 2 कमरों का मकान बना फिर बिजली विभाग ने इसमे बिजली कनेक्शन भी दिया,अब यह घर की जमीन वन विभाग की हो गई,बिजली विभाग का बिजली कनेक्शन भी गलत हो गया ।क्योंकी इसकी शिकायत किसी रसूखदार ने की है ,
लेकिन हेतराम के अनुसार शिकायत करने वाले का भी वन विभाग की कुछ जमीन पर कब्जा है ।
किन्तु उसके खिलाफ वन विभाग ने कार्यवाही नही की , लेकिन बताया जा रहा है कि अब समाजिक संस्थाओं के दखल और मीडिया में मामला आने के बाद उस पर भी मामला दर्ज हुआ है ।
और हेतराम के परिवार को न्याय की उम्मीद जगी है ,
हिमाचल प्रदेश जिला मंडी पंडोह निवासी श्री हेतराम की 9 बेटियां है और उनकी तीसरी बेटी की अभी शादी 11 मार्च को हुई है,
किन्तु पीरियोडिकल प्रेस ऑफ इंडिया पीपीआई दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष व जम्मू कश्मीर, पंजाब, हरियाणा , हिमाचल प्रदेश प्रभारी व फाउंडेशन के चीफ कॉर्डिनेटर राजेश ठाकुर ने हेतराम व उनके परिवार को विवाह कार्यक्रम सफलता से सम्पन होने के लिए बधाई दी , साथ ही उनकी बेटी और दामाद को सफल वैवाहिक जीवन यापन करने का आशीर्वाद भी दिया ।