जब लाइव कोरोना में अपना कर्तव्य निभाया तो अब कोरोना वैक्सीनेशन से डर कैसा,, –राजेन्द्र राना

1108

जयपुर 18 जनवरी 2021।(निक चिकित्सा)कोरोना वैक्सीन को लेकर किसी भी व्यक्ति के दिल व दिमाग में कोई भय नहीं होना चाहिए क्योंकि जब कोरोना पॉजिटव लोगों के रूप में जिंदा कोरोना का सामना किया जा चुका है तो इसकी वैक्सीन तो एक डेड फॉर्मेशन में है, जिससे किसी भी तरह डरने की कतई जरूरत नहीं। यह कहना है राजस्थान राज्य नर्सेज एसोसिएशन (एकीकृत) के प्रदेशाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह राना का,जो कि सोमवार को एसएमएस स्थित कोविड वैक्सीन सेन्टर पर मीडिया विजिट के दौरान पत्रकारों से मुखातिब हुए। राजेन्द्र राना ने बताया कि 16 जनवरी को कोरोना वैक्सीनेशन के शुभारंभ पर मैंने भी वैक्सीन लगवाया है और लगभग 48 घण्टे का समय बीत जाने के बाद भी मैं स्वयं को बिल्कुल स्वस्थ व एनर्जेटिक फील कर रहा हूँ।राना ने बताया कि वैक्सीन अभी राज्यभर में हॉस्पिटल डॉक्टर्स , नर्सिंग स्टाफ, पैरामेडिकल स्टाफ को लगाए जा रहे हैं, जो कि फ्रंट लाइन में रहकर कोरोना से युद्ध लड़ रहे हैं।
राना ने बताया कि साइंटिफिक रूप से एप्रूवड वैक्सीन को लॉन्च हुए 2 दिन पूरे हो चुके हैं और 2 दिनों में sms हॉस्पिटल में लगभग 200,और राज्य भर में अनुमानित 20 हजार से अधिक फ्रंटलाइन हेल्थ वारियर्स को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। उन्होंने बताया कि कोरोना हैल्थ वॉरियर्स के रूप में डॉक्टर्स एवं नर्सिंग स्टाफ ने कोरोना पॉजिटिव लोगों का सामना कर उनका इलाज करते हुए उनकी जान बचा रहे है,जिनके उत्तम स्वास्थ्य की राज्य और देश की जनता,परिवार जनों,और पूरे हेल्थ ऑर्गेनाएजेशन को बहुत जरूरत है। कोरोना से सबसे पहले सामना करने और अब कोरोना के खात्मे के लिए भी हेल्थ वारियर्स के रूप में अग्रणी भूमिका निभाने पर गर्व महसूस हो रहा है।। इस दौरान एसएमएस हॉस्पिटल के अति, अधीक्षक डॉ, रणधीर राव ने भी आज वैक्सीनशन लगवाया तथा सभी को वैक्सीन लगवाने की अपील की ।

राजेन्द्र राना नर्सिंग स्टाफ के साथ

वैक्सीनेशन सेंटर प्रभारी प्रोफेसर डॉ गोवर्धन मीणा ने बताया कि एसएमएस हॉस्पिटल में कोविड–19 वेक्सिनेशन के अभी पांच सेंटर बनाए गए हैं। इन सेंटर्स पर सभी हैल्थ वर्कर्स को वैक्सीन लगाए जा रहे हैं, जिनमें डॉक्टर्स, नर्सिंग स्टाफ, वार्ड ब्वायज, पैरामेडिकल टीम आदि शामिल हैं। इस मौके पर एसएमएस हॉस्पिटल के अति अधीक्षक डॉ रणधीर राव ने बताया कि एसएमएस हॉस्पिटल में कोरोना वेक्सिनेशन सेंटर पर वैक्सीन लगाने का कार्य सुचारू रूप से चल रहा है,साथ ही वैक्सीन लगाने के बाद कोई रिएक्शन ना हो इसके लिए व्यक्ति को लगभग आधा घण्टे तक ऑब्जर्वेशन में रखा जा रहा ताकि वैक्सीन के बाद होने वाले किसी लक्षण को मालूम किया जा सके।