राजस्थान पुलिस की इंटेलिजेंस ट्रेनिंग अकादमी द्वारा फोर्टिस एस्कॉर्ट्स अस्पताल में 100 से अधिक महिला कर्मचारियों को आत्मरक्षा के लिए प्रशिक्षित किया

463

जयपुर, 27.02.2020:(निक चिकित्सा) अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष पर शहर में अग्रणी सुपर स्पेशियलिटी हेल्थकेयर प्रदाता फोर्टिस एस्कॉर्ट्स अस्पताल ने अपनी महिला कर्मचारि को सशक्त बनाने के लिए प्रशिक्षण का आयोजन किया, जिसमें 100 से अधिक महिला कर्मचारियों ने आत्मरक्षा प्रशिक्षण को सफलतापूर्वक पूरा किया।
राजस्थान पुलिस की इंटेलिजेंस ट्रेनिंग अकादमी के सहयोग से 5 दिवसीय सत्र 24.02.2020 से 28.02.2020 तक आयोजित किया गया था।

कार्यक्रम का समापन डीसीपी हेड क्वार्टर- मनोज चौधरी, अतिरिक्त डीसीपी- सुनीता मीणा एवं पुलिस निरीक्षक और आत्मरक्षा कार्यक्रम की निदेशक- ममता शार्दुल की मौजूदगी में हुआ ।
आत्मरक्षा प्रशिक्षित सिपाही एवं मुख्य प्रशिक्षक साबरबाई मीणा और प्रियंका पूनिया द्वारा आत्मरक्षा प्रशिक्षण दिया गया ।

“महिलाओं के खिलाफ अपराध खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा हैं और इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि हम अपने कर्मचारियों को अपराधियों के खिलाफ बचाव के लिए प्रशिक्षित करें। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम से महिला कर्मचारियों को अधिक आत्मविश्वास और आत्म-आश्वासन मिलेगा । हम जयपुर शहर की पुलिस के शुक्रगुजार हैं कि उन्होंने महिला कर्मचारियों को खुद को बचाने की तकनीक में प्रशिक्षित करने के लिए सहमत हुए”, नीरव बंसल, जोनल डायरेक्टर, फोर्टिस एस्कॉर्ट्स हॉस्पिटल, जयपुर ने यह कहा।

आज कल महिलाएं काम के लिए बाहर जा रही हैं, उन्हें विभिन्न प्रकार के अपराधों और खतरों से भी अवगत होना चाहिए, जैसे कोई उनका पीछा करने की कोशिश करे या स्नैचिंग और यौन से संबंधित मामले। यह आवश्यक है कि लड़कियाँ शारीरिक और मानसिक रूप से मज़बूत हों| मैं सभी महिलाओं को कहना चाहती हूँ कि वे महिलाओं को अपने आप को कमजोर नहीं समझना चाहिए बल्कि उनका डट कर सामना करना चाहिए ।

फोर्टिस हॉस्पिटल में आत्मरक्षा प्रशिक्षण में महिलाओं की भागीदारी बहुत उत्साहित रहीं एवं उन्होंने बहुत अच्छी तरह से प्रशिक्षण प्राप्त किया हैं यह प्रशिक्षण यह सुनिश्चित करने का एक प्रयास है कि यहां काम करने वाली लड़कियां अकेले होने पर भी अपनी सुरक्षा के बारे में आश्वस्त हों और बिना किसी डर के अपने कर्तव्यों को निभाएं,
सुनीता मीणा, अतिरिक्त डीसीपी, जयपुर सिटी पुलिस ने अपने विचार रखे।