देह दान से सामाजिक मूल्य उन्नत होंगें, अरोड़वंश ने इतिहास में पहली बार देह दान कर अलख जगाने की परम्परा डाली,

663

*श्री अरोड़ वंश सभा द्वारा इतिहास में पहली बार की गई नई शुरुआत*
जयपुर 12 जून 2019।(निक सामाजिक)अरोड़ वंश सभा के संस्थापक अध्यक्ष श्री विजय कुमार जी सुखीजा ने अपने पिता की डेड बॉडी को उनकी इच्छा अनुसार एसएमएस मेडिकल कॉलेज में विद्यार्थियों के लिए देह दान कर दी,विजय सुखीजा ने बताया कि उनके समाज की यह पहली देहदान है क्योंकि उनके पिता कहते थे की उन्हें अपनी देह दान करके विद्यार्थियों को लाभ पहुंचाना चाहते हैं और अपने समाज में इसका चलन बढ़ाना चाहते हैं भविष्य में आगे चलकर कर मानवता की सेवा करें व उनकी देह दान के अवसर पर बड़ी संख्या मे रिश्तेदार और मित्र मौजूद थे