बाल यौन उत्पीड़न एक गम्भीर व संवेदनशील अपराध : कपिल गर्ग

99

ऑनलाइन बाल यौन उत्पीड़न जांच पर अंतरराष्ट्रीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का हुआ आयोजन,,,,,,,,

जयपुर, 3 जून2019।(निक क्राइम) महानिदेशक पुलिस कपिल गर्ग ने सोमवार को प्रातः राजस्थान पुलिस अकादमी में ऑनलाइन बाल यौन उत्पीड़न जांच के अंतरराष्ट्रीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ किया।
इस अंतरराष्ट्रीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन यूनिसेफ सेंटर फॉर चाइल्ड प्रोटेक्शन तथा सरदार पटेल यूनिवर्सिटी के ग्लोबल सेंटर फॉर सिक्योरिटी व काउंटर टेरोरिज्म एंड एन्टी इंसर्जेंसी द्वारा किया गया।
गर्ग ने कहा कि बच्चे हमारा भविष्य है। बच्चों को सुरक्षित रखकर ही हम हमारे उज्जवल भविष्य की कल्पना कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि बाल यौन उत्पीड़न एक गंभीर अपराध है और एक अत्यंत सवेंदनशील मुद्दा है। बाल यौन उत्पीड़न से प्रभावित बच्चों के मानसिक व समग्र विकास पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। अतः इस मुद्दे पर सक्रिय दृष्टिकोण अपनाकर बच्चों के लिए सुरक्षित और सहयोगी वातावरण बनाने की आवष्यकता है। उन्होंने प्रदेश में बाल यौन उत्पीड़न रोकने के लिए सभी के सहयोग से व्यापक स्तर पर प्रयासों की आवश्यकता प्रतिपादित की।
उद्घाटन सत्र में अतिथियों का स्वागत करते हुए अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस राजीव शर्मा ने प्रशिक्षण कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। उन्होनें कहा कि स्वस्थ समाज के लिए बच्चों को यौन उत्पीडन एवं अन्य प्रकार के षोषणों से सुरक्षित रखना आवष्यक है।
कार्यशाला के उद्घाटन सत्र को यूनिसेफ प्रभारी ईशाबेल बॉर्डन, इंटरनेशनल सेंटर फॉर मिसिंग एक्सप्लॉइटेड चिल्ड्रन के प्रोग्राम डायरेक्टर गुइलेर्मो गलार्ज़ा तथा गूगल के सिक्यूरिटी कौंसिल माइकल मेफई ने भी अपने विचार व्यक्त किए।