1928 में प्रथम महारानी मरुधर कवँर ने डाली थी लेडीज क्लब की नींव, तब से मई माह में मनाया जाता है इसका स्थापना दिवस

785

जयपुर 8 मई2019।(निक सामाजिक) महिलाएं आज भी 21वीं सदी में पूर्ण रूप से अपने आप को स्वतंत्र महसूस नहीं करती। यह हमारे देश की विडंबना ही समझी जाए ।
ऐसी स्तिथि में अगर हम बात करें 1928 कि तब अंग्रेज़ो का राज़ था, राजा महाराजाओ की रियासत थी।
महिलाओं को उस कालखंड में तो पर्दाप्रथा की परम्परा से दोचार होना पड़ता था,,ऐसे माहौल में मरुधर कँवर ने अपने साथ कि कुल 5महिलाओं के साथ जयपुर के अजमेरी गेट के निकट लेडीज क्लब की अवधारणा निर्मित की। वाक़ई उस समय की परम्परा के अनुसार महिलाओं की स्वतंत्रता के लिए उठाया गया कदम सराहनीय है, जिसकी खुशबू आज भी लेडीज़ क्लब में महक रही है ।
वर्तमान क्लब की अध्यक्षा कल्पना जैन व सचिव ज्ञान भगोरिया ने बताया कि 1928 में बोया गया पौधा आज वटवृक्ष का रूप ले चुका है ।
लेडीज़ क्लब की चेयरमैन विनीता सिंह ने बताया कि 92 वें स्थापना दिवस के अवसर पर हमने बहुत मेहनत की है,साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए विगत काफी दिनो से अभ्यासरत है।
पूरे कार्यक्रम की रूपरेखा व निर्देशन विनीता सिंह ने ही किया है। कल्पना जैन ने बताया कि नए पुराने, सभी सदस्यों को मिलकत 221 सदस्या आज इस क्लब की शोभा बढ़ा रही हैं ।
कार्यक्रम संयोजक विनीता सिंह ने बताया कि आज के सांस्कृतिक कार्यक्रम की थीम,जल बचाओ,पर्यावरण बचाओ,
पेड़ लगाओ,पक्षी बचाओ