सशक्त मोदी-सशक्त भारत कार्यक्रम आयोजित

511

जयपुर13 मार्च2019।(निक राजनीतिक)भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं लोकसभा चुनाव के प्रदेश सह प्रभारी सुधांशु त्रिवेदी ने एक होटल में आयोजित “सशक्त मोदी सशक्त भारत” कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी संस्कृति में क्रांति नहीं संक्रांति होती है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिखा दिया है कि जरूरत पड़ने पर हमें रौद्र रूप भी धारण करना आता है । भारतीय जनता पार्टी के विशेष संपर्क अभियान के तहत आयोजित किए गए इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बनी सरकार ने अलग तरीके से काम करना शुरू किया। इस सरकार की कैबिनेट की पहली बैठक में काले धन पर निर्णय लिया गया । काले धन से संबंधित सूचनाएं देने के लिए कई देशों को तैयार किया गया।
त्रिवेदी ने कहा कि 5 वर्ष पहले बड़ा राजनीतिक परिवर्तन हुआ। पिछले 4 वर्ष में जन धन अभियान के तहत जितने नए बैंक खाते खुले यह बहुत बड़ी घटना है। इस सरकार ने 10 करोड से अधिक शौचालय बनवाए, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नारे को मूर्त रूप दिया। कुंभ की स्वच्छता और भव्यता लोगों में चर्चा का विषय बनी। ये सभी विषय सरकार के अलग तरीके से काम करने को दर्शाते हैं। त्रिवेदी ने कहा कि 40 वर्षो से लंबित वन रैंक वन पेंशन योजना को हमारी सरकार ने लागू किया। जीएसटी आजादी के बाद सबसे बड़ा आर्थिक सुधार वाला कदम है। भारत भविष्य की आर्थिक महाशक्ति बनने वाला है उसके कई आधारों में से जीएसटी भी प्रमुख आधार है।
उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी को अलग तरीके से काम करने के लिए दीनदयाल उपाध्याय के अंत्योदय और राष्ट्रवाद से प्रेरणा मिलती है। त्रिवेदी ने कहा कि भाजपा की सरकार ने विचार किया कि सौर उर्जा के माध्यम से ऊर्जा का नया और सशक्त विकल्प तैयार किया जा सकता है। सरकार ने इस विषय में केवल सोचा ही नहीं अपितु कार्य करके सोलर एनर्जी का उत्पादन 10 गुने से अधिक बढ़ा दिया। साथ ही इंटरनेशनल सोलर समन्वय का केंद्र भी गुरूग्राम में बना दिया। इसी सरकार ने उत्तर पूर्व में जल परिवहन की दिशा में काम करते हुए हल्दिया से वाराणसी तक जल परिवहन का मार्ग प्रशस्त किया। उल्लेखनीय है कि जल परिवहन में कीमत अन्य संसाधनों के मुकाबले 1/ 10 ही आती है तथा प्रदूषण भी कम होता है।
त्रिवेदी ने कहा कि विदेश नीति के साथ हमने भावनात्मक संबंधों को भी मजबूत बनाने पर काम किया। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद मंगोलिया में जाने वाले पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विदेशों में रहने वाले प्रवासी भारतीयों के साथ भी संवाद स्थापित किया। अपने शपथ ग्रहण कार्यक्रम में सभी सार्क देशों के प्रतिनिधियों को बुलवाना विदेश नीति का अहम हिस्सा है। विदेश नीति की मजबूती के कारण ही ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कंट्रीज के कार्यक्रम में भारत की विदेश मंत्री का उद्बोधन भी हुआ।
त्रिवेदी ने कहा कि पूरा विश्व भारत की ओर आशा भरी नजरों से देख रहा है । हमारे राष्ट्रवाद ने देश को कभी मिटने नहीं दिया। जैविक खेती ,आयुर्वेद और पर्यावरण संरक्षण की बात हम 50 वर्ष से कहते आए हैं और अब पूरे विश्व ने उसे गंभीरता से लेना प्रारंभ कर दिया है । त्रिवेदी ने कहा कि हमारा अतीत गौरवशाली रहा है और भविष्य भी सुनहरा ही होगा ।
इससे पहले भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष सुनील कोठारी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे निर्णय से देश पर प्रभाव पड़ता है । यूपीए की सरकार में दाल में काला नहीं था अपितु पूरी दाल ही काली थी। उस समय की सरकार भ्रष्टाचार में डूबी हुई थी। भारतीय जनता पार्टी ने भ्रष्टाचार रहित शासन दिया है ।कार्यक्रम में श्याम अग्रवाल ने स्वागत भाषण दिया।