जैनेश्वरी दीक्षा समारोह, चार की दिगम्बर जैन मंदिर में हुई गोद भराई

1800

दीक्षार्थियों के सम्मान में उमड़ी आस्था ……

णमोकार गुणगान के साथ हुई दीक्षार्थियों की गोदभराई, श्याम नगर जैन मंदिर में हुआ आयोजन,,,,,,,,,,,

जयपुर 19 फरवरी2019।(निक धार्मिक)शहर के सोडाला स्थित श्याम नगर के वशिष्ठ मार्ग आदिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर में मंगलवार को प्रातः 9 बजे से गुरुमां गणिनी आर्यिका सुपार्श्वमती माताजी के संघस्थ रही व हिना दीदी और सारिका दीदी सहित ब्र शैला दीदी और ब्र दीप्ति दीदी को गोद भराई का आयोजन गणिनी आर्यिका रत्न गौरवमती माताजी ससंघ सानिध्य में सम्पन्न हुआ। सभी चारों दीक्षार्थियों की जैनेश्वरी दीक्षा आर्यिका प्रशांतमती माताजी के करकमलों द्वारा 8 मार्च को प्रतापगढ़ में सम्पन्न होगी।

अखिल भारतीय दिगम्बर जैन युवा एकता संघ अध्यक्ष अभिषेक जैन बिट्टू और सलाहकार राजेंद्र बड़जात्या ने बताया कि मंगलवार को प्रातः आर्यिका गौरवमती माताजी के सानिध्य में हुए दीक्षार्थियों के सम्मान में भव्य आयोजन हुआ। इस दौरान ब्र हिना दीदी और ब्र सारिका दीदी सहित ब्र शैला दीदी और ब्र दीप्ती दीदी की सर्व प्रथम श्याम नगर जैन समाज की ओर से गोदभराई कर अनुमोदना की और सम्मान किया गया। इससे पूर्व प्रातः 6.30 बजे भगवान आदिनाथ स्वामी का कलशाभिषेक एवं शांतिधारा की गई। जिसके पश्चात् सभा के माध्यम से समारोह का आयोजन प्रारम्भ हुआ। इस दौरान समाज श्रेष्ठियों द्वारा अनुमोदना की गई जिसके बाद दीक्षार्थी दीदियों ने अपना संबोधन दिया। अंत में गणिनी आर्यिका गौरवमती माताजी ने आशीर्वचन देकर नवीन दीक्षार्थी दीदी की अनुमोदना की और गोदभराई की रस्म शुरू की जिसमे श्याम नगर, जनकपुरी, विवेक विहार, राधा विहार, मानसरोवर, सूर्य नगर, जौहरी बाजार महिला मंडल की पदाधिकारियों और सदस्यो ने फल, मेवा, नारियल आदि भेंट कर अनुमोदना की। इस दौरान उपस्थित जनसमूह ने णमोकार के साथ मंगल गीतों का गुणगान किया।

अजित पाटनी ने बताया कि 8 मार्च को होने वाले दीक्षा समारोह से पूर्व सभी चारों दीक्षार्थीयों का परिचय देते हुए बताया कि इन सभी दीदियों ने अल्प आयु में ही संयम का मार्ग अपनाकर अनेक वर्षों त्याग, तप की साधना मे अग्रसर है। इन्होंने सभी तरह के सुख, वैभव, घर – परिवार का त्याग कर आचार्य वर्धमान सागर महाराज, गुरुमां गणिनी आर्यिका सुपार्श्वमती माताजी, आर्यिका प्रशांतमती माताजी, आर्यिका गौरवमती माताजी के संघ में रहकर ब्रह्मचारी व्रत की साधना की उसका पालन करते हुए गुरु सेवा में लीन रही ओर जैनेश्वरी दीक्षा के भाव बनाती रही है साथ ही धार्मिक ग्रथों का अध्ययन भी करती रही है। आज वह पुनीत अवसर इनके जीवन मे आया है की वह दीक्षा धारण कर संयम के मार्ग पर चलते हुए जैन धर्म का प्रचार प्रसार करेगी और मोक्ष महल की ओर अग्रसर होगी। जिसका हर दीक्षार्थीयों को सदैव इंतज़ार रहता है की वह संयम की धारणा को भा कर नियम पूर्वक धर्म का पालन करते हुए भगवान महावीर स्वामी के बताए मार्ग पर आगे बढ़ते रहे।

श्याम नगर मन्दिर ट्रस्ट समिति अध्यक्ष निहालचंद पांड्या ने बताया कि मंगलवार को आयोजित कार्यक्रम सभी चारों दीक्षार्थी दीदियों का गोदभराई की गई। इस दौरान समाज के हुल्लासचन्द सबलावत, सुरेश सबलावत, प्रदीप चूड़ीवाला, अशोक चूड़ीवाला, भागचंद बाकलीवाल, मोतीलाल बाकलीवाल, राजकुमार पाटनी, राजकुमार सेठी, अभिषेक जैन बिट्टू, राजेन्द्र बड़जात्या, प्रवीण बड़जात्या, आशीष जैन चेतू, आशीष गोधा, अरुण जैन, मनोज पहाड़िया, मनोज गोधा, प्रभात सिंघई, अमित जैन, श्रीमती मधु चांदवाड़, शशि जैन, रजनी जैन, आशा जैन सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालुगण एकत्रित हुए।