राज्यपाल से लगाई इच्छा मृत्यु की गुहार,गैंग रेप पीड़िता ने, 52 दिनोँ से आरोपी गिरफ्त से दूर

1004

भांकरोटा अजमेर रोड जयपुर के रिसोर्ट में हुआ था गैंग रेप,
थाने में FIR है दर्ज,कब मिलेगा न्याय
जयपुर 11 जनवरी2019।(NIK crime) आज 52 दिन बाद भी गैंग रेप की शिकार पीड़िता, न्याय के लिए दर दर भटक रही है । आखिर अनेक सामाजिक संघटनों को न्याय में देरी के चलते पीड़िता के साथ खड़ा होना पड़ा। यह है हमारी न्याय व्यवस्था।
मामला एक लड़की के गैंग रेप का है, पीड़िता इवेंट मैनेजमेंट का काम कर अपना गुजारा चलाती है।
पीड़िता के अनुसार 17 नवम्बर को जयसिंहपुरा रोड,भांकरोटा स्थित स्टारडम रिसोर्ट में सचिन गुप्ता नाम के शख्स के काम दिलवाने के नाम पर पहुंची तो वहाँ सचिन के साथ पंकज चटवाल व निखिल गुप्ता मौजूद थे, बांतों में उलझाकर तीनों ने कोल्ड ड्रिंक में नशे की कोई चीज़ मिलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया ।
सुबह जब पीड़िता की आंख खुली तो उसने अपने आप को नग्न पाया और साथ मे बिस्तर पर पंकज चटवाल नामक युवक को भी अर्धनग्न अवस्था में पाकर डर के मारे चिल्लाना शुरू कर दिया। उसी समय सचिन गुप्ता भी वहाँ पहुंचा और उसे उसकी नग्न वीडियो दिखा धमकाया और वीडियो वायरल करने की बात कही।
उसके बाद वह अपने घर पहुंच,अपने भाई को आपबीती सुनाई। दोनों ने भांकरोटा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई।
पीड़िता का आरोप है कि थाने के एक पुलिस अधिकारी ने 30 घण्टे बाद मेडिकल करवाया और फर्द जब्ती 18 नवम्बर की दिखाई और कहा कि किसी के पूछने पर कल की ही फर्द जब्ती बताने का दबाव बनाया।
मेरे बयान भी बिना महिला पुलिस के लिए गए।
22 नवम्बर को न्यायालय में 164 के बयान मजिस्ट्रेट के सामने होने के बावजूद आज तक गैंग रेपिस्टों को गिरफ्तार नहीं किया गया है। जबकि मेरे से पूछताछ निरन्तर जारी है और आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी का ही आश्वासन दिया जा रहा है ।
पीड़िता ने मीडिया के सामने राजस्थान जाट महासभा की महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश अध्यक्ष रचना सहारण मान, प्रदेश महिला कांग्रेस की महासचिव ममता पलसीकर के साथ अनेक सामाजिक संघटनों को धन्यवाद दिया,और कहा आज यह सब मेरे साथ है, इसलिये में न्याय के इंतज़ार में आप सब के सामने हूँ।
बावजूद इसके इतने दिनों तक न्याय नहीं मिलने की सूरत में पीड़िता ने थकहार कर राज्यपाल महोदय से इच्छा मृत्यु की अपनी मंशा जताई है।