कहीं विरोध ,तो कहीं दल बदल

403

दम घोंटू राजनीति,,
कल भाजपा में शामिल हुए रामकिशोर सैनी को बांदीकुई से मिला टिकिट,

हर 5 साल में दम घुटता है मेरा,,

जयपुर 17 नवम्बर ।(NIK) जी हाँ समय के साथ बदली बदली राजनीति का पूरा परिदृश्य अब बदल चुका है ।
जहाँ पहले राजनीति जनसेवा के साथ लोक सेवा का पुनीत कार्य हुआ करती थी,वहीं आज की राजनीति सिर्फ और सिर्फ सत्ता लोलुप हो गयी है ।
जनप्रतिनिधि अब कुर्सी का नुमाइंदा बन कर रह गया है ।
वह आज चुनाव जनसेवा व लोक सेवा के लिए बल्कि कुर्सी पाने के लिए लड़ना चाहता है।
येनकेन प्रकारेण वह सिर्फ सत्ता का भागीदार बन पावर हासिल करना चाहता है,एक ऐसी पावर जिसके जरिये वह स्वछंद हो कुछ भी करने की मंशा रखता है, जहाँ जन व लोक सेवा का कोई महत्व नहीं ।

आज की राजनीति में कुछ नेताओं का हर 5 साल में दम घुटने लगता है और वह तुरन्त टिकिट की लालसा लिए प्रतिद्वंदी पार्टी में मुंह लटकाए नहीँ, बल्कि गर्व से सिर ऊंचा कर शामिल होता है,और टिकिट पा कर अपनी बरसों की राजनीति की तपस्या की दुहाई देते हैं ।
कुछ ऐसे नेता हैं जो पूरे 5 साल पार्टी की नाक में दम करके रखते हैं,और जब पार्टी उन्हें तवज्जो नहीं देती तो अपना दम घुटने का बहाना बना दूसरी और आकर्षित होते हैं या टिकिट नहीँ मिलने पर विरोध स्वरूप अपना।दमखम दिखाने से भी नहीं हिचकिचाते ।
यह सब नज़ारा अभी आप सबलोग देख सुन रहे होंगे,,

आज की राजनीति में नीति अब नदारद है सिर्फ राज हासिल करने की राजनीति है,उसी की नीति ,रणनीति बनाई जाती है।