किसानों के हित के लिये कार्य कर रही है भाजपा:-सुधांशु त्रिवेदी

564

तथ्यहीन और आधारहीन बातें करती हैं कांग्रेस: सुधांशु त्रिवेदी
******************************
राम मन्दिर मुद्दे पर राहुल गाँधी को दी चुनौती
******************************

जयपुर, 04 नवम्बर।(NIK) भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने पत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस तथ्यहीन एवं आधारहीन बातें कह कर जनता के मन में भ्रम फैलाने का काम करती है। उन्होंने कहा कि किसानों और किसानों से जुड़ी हुई समस्याओं के निराकरण के लिए राजस्थान एवं केन्द्र की सरकार ने अनेक अद्वितीय कार्य किये हैं

त्रिवेदी ने कहा कि भाजपा सरकार ने 28 लाख किसानों के 50 हजार रूपये तक के ऋण माफ किये, अब तक 8,000 करोड़ रूपये के ऋण माफ किये जा चुके है। 244 पंचायत समिति एवं 4301 ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर किसान सेवा केन्द्रों का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। राज्य में 15 नई मृदा परीक्षण की प्रयोगशालाओं की स्थापना की जा चुकी है, जिनसे अब तक लगभग 1.32 करोड़ साॅयल हैल्थ कार्ड तैयार कर किसानों को दिये जा चुके है। बीकानेर जिले में देश की पहली जैतून रिफाइनरी की स्थापना भी भाजपा शासनकाल में ही हुई है।

उन्होंने कहा कि 2015 से पहले किसानों को 50 प्रतिशत फसल खराब होने पर मुआवजा मिलता था, परन्तु अब भाजपा शासनकाल में केवल 33 प्रतिशत फसल खराबे पर किसानों को मुआवजा दिया जाता है। एक समय था जब यूरिया के लिए किसानों को बहुत मशक्कत करनी पड़ती थी, लम्बी लाईनों में खड़े होकर इन्तजार करना होता था। भाजपा के शासन में नीम कोटेड़ यूरिया के माध्यम से किसानों को राहत दी गई।

उन्होंने भूपेन्द्र सिंह हुड्डा पर निशाना साधते हुए कहा कि हुड्डा को भाजपा के विकास कार्य नहीं दिखते, क्योंकि वे किसानों के अद्भुत हिमायती हैं, जिन्होंने ऐसे लोगों को किसान बनाया, जो कभी खेत में खड़े ही नहीं हुए। हुड्डा ने उन लोगों को भी किसान बना दिया, जो लोग लग्जरी गाड़ियों में विदेशों में घूमते हुए कोड़ियों के दामों पर जमीनें लेकर करोड़ों के मालिक बन गये। कांग्रेस पार्टी ने किसानों को दशकों तक बुरी स्थिति में रखा।

उन्होंने ने भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के राम मन्दिर जाने के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी के नेता शशि थरूर यह कहते हैं कि अयोध्या में मन्दिर बनवाने की बात बुरे हिन्दू ही करते है, तो क्या हुड्डा बूरे हिन्दू बनना चाहते है? उन्होंने कहा कि रामजन्म भूमि का आन्दोलन 490 वर्ष से चल रहा है।

उन्होंने राहुल गाँधी को चुनौती देते हुए कहा कि यदि वे ईमानदार हैं तो 1990 में कारसेवकों की हत्या करवाने वाली मुलायम सिंह की सरकार को समर्थन देकर बचाने के लिए माफी मांगे। राहुल गाँधी 1992 में विवादि ढ़ाँचा गिरने के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री पी.वी. नरसिंहराव के द्वारा दिये गये बयान कि वे तथाकथित बाबरी मस्जिद पुनः बनायेंगे, इस बयान के लिए राहुल गाँधी माफी मांगे। कांग्रेस के नेता कपिल सिब्बल न्यायालय में खड़े होकर यह कहते है कि इस मुद्दे को 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद तक ले जाना चाहिए। सुन्नी वक्फ बोर्ड और बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी की ओर से कोर्ट में खड़े होने वाले कपिल सिब्बल को वे वहाँ से हटाये।

त्रिवेदी ने कहा कि कांग्रेस के पूर्व मंत्री कपिल सिब्बल कोर्ट में वकील की भूमिका में सुन्नी वक्फ बोर्ड और बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी की तरफ से खड़े होते है एवं हमारे कानून मंत्री जब वकील के रूप में कोर्ट में खड़े थे, तो श्रीरामलला विराजमान की ओर से खड़े थे। अगर कांग्रेस ईमानदार है तो उपरोक्त तीनों विषयों के लिए माफी मांगें। अन्यथा राहुल गाँधी कितना भी मन्दिर घूम लें इन तीन बातों से उनका प्रायश्चित नहीं हो सकता।