पैंथर परिवार ने महाराजा हरि सिंह जी को दी पुष्पांजलि: खोसला

192

दिल्ली/जयपुर 23 सितंबर 2022।(निक राजनीति) दिल्ली प्रदेश नेशनल पैंथर्स पार्टी के अध्यक्ष राजीव जोली खोसला महाराजा हरि सिंह जी के जन्मदिवस पर पुष्पांजलि अर्पित की पैंथर्स पार्टी की फाउंडर अधिवक्ता जयमाला जी ने भी पुष्पांजलि देते हुए कहा कि पैंथर सुप्रीमो स्वर्गीय प्रो भीम सिह जी भी हमेशा महाराजा हरि सिंह जी की गाथाएं बताते थे किस प्रकार उन्होंने गोलमेज कांफ्रेंस में कहा कि मैं पहले भारतीय हूं बाद में राजा कश्मीर से कन्याकुमारी तक सभी पैंथर परिवार ने महाराजा हरि सिंह जी को पुष्पांजलि अर्पित की।

राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा महासचिव शाहिद खान तेलंगाना अध्यक्ष अधिवक्ता श्री कृष्णा जी हरियाणा अध्यक्ष अधिवक्ता शशि भूषण जी उत्तर प्रदेश से राम आधार यादव बिहार से तूफान सिंह पंजाब से पूनम शर्मा दिल्ली से ए जे राजन , ओम किशनसभी ने अपने अपने हिसाब से पुष्पांजलि अर्पित की जयमाला जी ने बताया की महाराजा हरि सिंहजी अमर सिंहजी और भोटियाली छिब के पुत्र थे। 1923 में, अपने चाचा की मृत्यु के बाद, सिंह जम्मू और कश्मीर के नए महाराजा बने। 1947 में भारतीय स्वतंत्रता के बाद , सिंह चाहते थे कि जम्मू और कश्मीर एक स्वतंत्र राज्य के रूप में बना रहे। आदिवासी सशस्त्र पुरुषों और पाकिस्तानी सेना द्वारा अपने राज्य में आक्रमण के खिलाफ भारतीय सैनिकों का समर्थन प्राप्त करने के लिए उन्हें भारत के डोमिनियन में शामिल होने की आवश्यकता थी ।

    सिंह 1952 तक राज्य के नाममात्र के महाराजा बने रहे, जब भारत सरकार द्वारा राजशाही को समाप्त कर दिया गया था। बॉम्बे में अपने अंतिम दिन बिताने के बाद , 26 अप्रैल 1961 को उनका निधन हो गया। आजादी के बाद 26 अक्टूबर 1947 को जम्मू कश्मीर का विलय भारत के साथ हुआ जिसे आज हम भारत के सर का ताज कहते हैं