मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पारिवारिक फोटो व्हाट्सएप प्रोफाइल पर लगा, शातिर साइबर क्रिमिनल पांडिरी विष्णु मूर्ति उर्फ विष्णु उर्फ सागर निवासी विशाखापट्टनम से गिरफ्तार,,आंध्र के आरोपी मूर्ति ने मुख्यमंत्री गहलोत के नाम से विधायक-मंत्रियों से कर चुका है 1.80 करोड़ की ठगी,,

234

आंध्र के साइबर क्रिमिनल ने अशोक गहलोत के नाम पर विधायक से मांगे 30 हजार रुपये, भिवाड़ी पुलिस ने विशाखापट्टनम से किया गिरफ्तार*
भिवाडी 30 अप्रैल 2022।(निक क्राइम) मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पारिवारिक फोटो व्हाट्सएप प्रोफाइल पर लगा कर तिजारा विधायक संदीप यादव से 30 हजार रुपये की मांग करने वाले शातिर साइबर क्रिमिनल पांडिरी विष्णु मूर्ति उर्फ विष्णु उर्फ सागर निवासी विशाखापट्टनम शहर को थाना भिवाड़ी पुलिस ने घटना की रिपोर्ट के मात्र 42 घंटों में 2200 किलोमीटर दूर विशाखापट्टनम से गिरफ्तार कर लिया है।

भिवाड़ी एसपी शांतनु कुमार सिंह ने बताया कि 24 अप्रैल को तिजारा विधायक संदीप यादव के व्हाट्सएप पर एक वर्चुअल नंबर जिसकी प्रोफाइल में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पारिवारिक फोटो लगी थी से मैसेज आया। चैटिंग के दौरान विधायक से ऑनलाइन 30 हजार रुपये भेजने को कहा गया। शक होने पर उन्होंने मुख्यमंत्री के ओएसडी देवाराम सैनी से जानकारी प्राप्त कर भिवाड़ी पुलिस को सूचना दी।
एसपी कुमार ने बताया कि विधायक की रिपोर्ट पर थाना भिवाड़ी पर आईपीसी व आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज कर सीओ हरी राम कुमावत के सुपरविजन में थानाधिकारी जितेंद्र सिंह एवं उप निरीक्षक रजनी की दो टीमों का गठन किया गया। टीम ने वर्चुअल व्हाट्सएप नंबर की डिटेल प्राप्त की तो आईपी एड्रेस सिंगापुर का आया। विधायक को रुपए भेजने के लिए फोनपे व गूगल पे की जो डिटेल दी गई थी की जानकारी की तो लोकेशन विशाखापट्टनम आंध्र प्रदेश की आई।
इस सूचना पर दोनों टीमों को विशाखापट्टनम शहर भेजा गया। जहां उस पते पर कोई नहीं मिला। टीम ने स्थानीय व्यक्तियों से पूछताछ की एवं मुखबिर नियुक्त कर नए पते की जानकारियां जुटाई। नए पते पर मिले संध्या सिंह व उनके पति के.शिवा ने घटना के संबंध में अनभिज्ञता जताई और अपने दोस्त सागर द्वारा 24 अप्रैल को गूगल पे नंबर मांगना बताया। जिनसे आरोपी सागर के वर्तमान नंबर प्राप्त कर तकनीकी सहायता से शातिर साइबर क्रिमिनल पांडिरी विष्णु मूर्ति को गिरफ्तार किया गया।

    *विधायक-मंत्रियों से ठगे करीब 2 करोड रुपए से प्रेमिका को दिलाया फ्लैट*
    साल 2019 में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगमोहन रेड्डी के नाम से 3 विधायकों व दो मंत्रियों के करीब एक करोड़ 80 लाख रुपए की ठगी की गई थी। जिसमें आंध्र प्रदेश पुलिस को अभियुक्त को पकड़ने में 5 महीने लगे थे। गिरफ्तार अभियुक्त ने इन वारदातों से ठगे रूपों में से अपनी प्रेमिका को विशाखापट्टनम की पॉश कॉलोनी में 80 लाख रुपए खर्च कर एक लग्जरी फ्लैट दिलवाया था।
    *कंप्यूटर साइंस में बीटेक डिग्री होल्डर है आरोपी*
    पांडिरी विष्णु मूर्ति उर्फ विष्णु उर्फ सागर कंप्यूटर साइंस में बीटेक डिग्री धारक है,जो किसी का मोबाइल व कंप्यूटर हैक करने में माहिर है। आरोपी के विरुद्ध पूर्व में भी चार मुकदमे आईटी एक्ट के दर्ज हुए हैं। घटना के लिए वीपीएन के जरिए किसी दूसरे देश के इंटरनेट सर्वर का उपयोग कर ठगी की वारदात करता है। लोगों के फोन हैक कर उनकी कांटेक्ट लिस्ट प्राप्त करने के बाद वर्चुअल नंबर के जरिए जान पहचान वालों से व्हाट्सएप चैट कर रुपयों की मांग करता और उन रुपयों से अपने व अपनी प्रेमिका के महंगे शौक पूरा करता।
    *गिरफ्तारी में इनकी रही सराहनीय भूमिका*
    शातिर साइबर क्रिमिनल विष्णु मूर्ति की गिरफ्तारी में थाना अधिकारी जितेंद्र सिंह, तकनीकी विशेषज्ञ हेड कांस्टेबल मोहनलाल तथा विशाखापट्टनम में 4 वर्ष आर्मी में नौकरी कर चुके कॉन्स्टेबल वीरेंद्र कुमार का भाषा रूपांतरण व स्थानीय जानकारी में विशेष योगदान रहा है।
    ————