राजस्थान होमगार्ड कर्मचारी संगठन की ओर से होमगार्ड की मांगो को लेकर शहीद स्मारक पर धरना दिया गया,,,

475

जयपुर 25 अक्टूबर 2021।(निक विशेष)संगठन के प्रदेशाध्यक्ष झलकन सिंह राठौड़ ने बताया कि लंबे समय से नियमितीकरण की मांग कर रहे है सरकारें आती है चली जाती है , मगर होमगार्ड जस की तस बदहाल स्थिति में रहती है किसी भी सरकार को होमगार्ड पर दया नही आती होमगार्ड जवान सरकार के आदेश की पालना में अपनी जान जोखिम में डालकर अच्छी सेवाएं देते है पर उनको मिलता क्या है। आज दुनियां डिजिटल सिस्टम की ओर बढ़ रही है , वहीं हिमगार्ड को अंग्रेजों के जमाने से बनाये गए नियमो के तहत संचालित किया जा रहा है कोई भी इनकी सुध नही ले रहा , ऐसे में वर्तमान में 2500 युवाओं को और नई भर्ती के जरिये बेरोजगारों की भीड़ में शामिल किया जा रहा है जबकि लंबे समय से संगठन की मांग है कि नई भर्तियों से पूर्व जो जवान पंजीकृत है उनको 365 दिन रोजगार मुहैया कराया जाए साथ ही जिन जवानों को बिना किसी कारण और नियम विरुद्ध हटाया गया उनकी बहाली की जाए तब तक नई भर्ती प्रक्रिया पर रोक लगाई जाए वैसे भी नए युवाओं को इस बेरोजगारी के दलदल से बचाया जाए ,

होमगार्ड विभाग जब मंत्री के मौखिक आदेश की पालना में जवानों को डिस्चार्ज कर सकता है परंतु माननीय उच्च न्यायालय व राज्य सरकार द्वारा लिखित में जारी किए गए आदेशों की पालना करने में एक्ट और नियम आड़े आते है विभाग में नई भर्ती निजी हितों के तहत सरकार को गुमराह कर की जा रही है वर्ना इसकी वर्तमान में आवश्यकता भी नही है क्योंकि लगभग 60% प्रतिशत नफरी वर्तमान में वेरोजगार बैठी संगठन की ओर से सर्व सहमति से निर्णय लेते हुए स्पष्ट किया जाता है कि

    यदि हमारी जायज मांगो को पूरा नही किया गया तो प्रदेश व्यापी आंदोलन कर सड़को पर उतरा जाएगा इसी के तहत होमगार्ड का धरना निरंतर जारी है