सेवा ही मेरा धर्म है : तुलसी त्रिलोकानी

95

जयपुर 29 सितम्बर 2021।(निक सामाजिक)कुछ समाजसेवी ऐसे भी होते हैं जो समाज सेवा तो करते हैं लेकिन अपना नाम कभी नहीं करते उनमें से विवेकानंद पार्क 3 और 7 सेक्टर जवाहर नगर के बीचमें आने वाले कुछ समाजसेवी जो कि पौधे तो लगाते हैं,

साथ साथ उन पौधों की देखभाल भी करते हैं उनके अलावा परिंडे लगाना परिंदों को नियमित रूप से पानी देना सुबह योगा सिखाना जरूरतमंदों की सेवा इनकी नियमित दिनचर्या है ।

    जिसमें समाजसेवी तुलसी त्रिलोकानी की अध्यक्षता में यह सभी समाज सेवा के कार्य होते हैं इनके साथ दिलीप भाटिया, अशोक निरंकारी, प्रदीप बचवानी, मुरली चंदानी,आसन दास परचानी आदि अपने नाम के मोहताज नहीं है लेकिन दिन रात लोगों की सेवा में लगे रहते हैं धन्य है इनको