’’रीट” की परीक्षा अब हथियारों के साये में,, परीक्षा केन्द्रो एवं संग्रहण स्थलों पर हथियार बंद पुलिस बलों की होगी तैनातगी,, इन्टरनेट बन्द पर हाल फिलहाल स्थिति अभी स्पष्ट नहीँ, कितना बदल गया राजस्थान,,,

394

जयपुर, 23 सितम्बर 2021।(निक शिक्षा) प्रदेष में अब तक की सबसे बडी प्रतियोगी परीक्षा ’’रीट’’ के लिए प्रत्येक परीक्षा केन्द्र, संग्रहण स्थानों व प्रष्न पत्रों निर्गगन हेतु हथियारबन्द पुलिस बल तैनात किए जायेगें। साथ ही प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर आने वाले अभ्यार्थियों की चैकिंग हेतु 2 कानि0, 2 होमगार्ड स्वयंसेवक एवं यथासम्भव 2 महिला पुलिसकर्मी तैनात किए जायेगें।

अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस प्रषासन, कानून-व्यवस्था सौरभ श्रीवास्तव ने बताया कि परीक्षा के दिन महत्त्वपूर्ण स्थानों पर पुलिस की उपस्थिति एवं गष्त की उचित व्यवस्था की जायेगी। जिलों में कानून व यातायात व्यवस्था सुचारू रूप से संचालित करने हेतु जिला पुलिस को पृृथकतः कुल 5000 होमगार्ड स्वयंसेवक, 500 बोर्डर होमगार्ड स्वयंसेवक एवं लगभग 50 कम्पनी आर.ए.सी., एम.बी.सी, एसडीआरफ, हाडीरानी बटालियन उपलब्ध कराई जा रही है।
श्रीवास्तव ने बताया कि रीट परीक्षा के दौरान नकल रोकने के संबंध में पुलिस मुख्यालय स्तर से आवष्यक दिषा-निर्देष जारी किये जा चुके है तथा एस.ओ.जी. एवं जिला पुलिस द्वारा पूर्ण निगरानी एवं सतर्कता रखी जा रही है। जी.आर.पी. को सषक्त बनाने हेतु एवं रेल्वे स्टेषनों पर सुरक्षा हेतु 4 कम्पनी 1 प्लाटून आर.ए.सी., 650 पुलिस बल एवं 500 होमगार्ड स्वयंसेवक का जाप्ता पृृथक से दिया जा रहा है। इसके साथ ही समस्त जिलों से उनकी मौजूदा नफरी का 70 से 75 प्रतिषत का बल इस ड्यूटी हेतु नियोजित किया जा रहा है।

    एडीजी कानून एवं व्यवस्था ने बताया कि प्रत्येक रेंज महानिरीक्षक पुलिस, पुलिस आयुक्त (जयपुर व जोधपुर) को एस.टी.एफ. तथा एसडीआरएफ का बल रेंज रिजर्व के रूप में प्रदान किया गया है। जिला पुलिस को भी पर्याप्त रिजर्व बल उपलब्ध कराया गया है। महिला पुलिसकर्मियो की संख्या में वृद्धि हेतु हाडीरानी बटा0, प्रषिक्षु महिला उप निरीक्षक एवं 370 महिला होमगार्ड स्वयंसेवकों की सेवायें भी परीक्षा केन्द्रों पर ली जायेंगी। रेल्वे स्टेषनों, बस स्टेण्डों, राजमार्गों, प्रमुख चौराहों, बाजारों राजमार्गों पर पड़ने वाले कस्बों/बाजारों/ढ़ाबों एवं टोल नाकों आदि पर पुलिस गष्त, पिकेट व निगरानी रहेगी तथा अव्यवस्था फैलाने वाले, शांति भंग करने वाले असामाजिक तत्वों के साथ सख्ती से कार्रवाई करने के निर्देष समस्त पुलिस अधिकारियों एवं बल को प्रदान किये गये हैं।