BIG BREAKING : सीआई की निजी कार लूटने व हैड कांस्टेबल को गोली मारने के दोनों अभियुक्त गिरफ्तार,,, डीएसटी सीआई नरेंद्र खीचड़ व हेड कांस्टेबल मनेन्द्र सिंह पर हुआ था हमला ,,, डीजीपी लाठर ने टीम को दी बधाई,, पढ़ें पूरी खबर,,

157

*500 से अधिक सीसीटीवी व 65 से अधिक संदिग्धों से पूछताछ के बाद नाचना से किया गिरफ्तार*

जयपुर 25 जुलाई 2021।( निक क्राइम)सीकर व बीकानेर पुलिस व दोनों जिलों की स्पेशल टीम ने 500 से अधिक सीसीटीवी व 65 से अधिक बदमाशों से पूछताछ के बाद डीएसटी जयपुर पश्चिम के हैड कांस्टेबल को गोली मारकर सीआई की निजी कार लूटने की घटना का खुलासा कर जिला फतेहाबाद हरियाणा निवासी विक्रम उर्फ भामु पुत्र उग्रसेन विश्नोई तथा जिला फाजिल्का पंजाब निवासी सोमदत्त पुत्र दलीप कुमार काकड़ (22) को गिरफ्तार कर लिया।

महानिदेशक पुलिस एम एल लाठर ने दोनों अभियुक्तों को पकड़ने में सलंग्न टीम को बधाई दी है।
डीजीपी मोहनलाल लाठर
मुल्जिम विक्रम अत्यधिक गंभीर प्रवृति के अपराध करने का आदी है व उसके खिलाफ विभिन्न थानों मे गंभीर प्रवृति के 19 प्रकरण व इसके साथी सोमदत्त के विरूद्व 3 प्रकरण दर्ज हैं।

आरोपी 20 जुलाई को जयपुर डीएसटी में तैनात सीआई नरेंद्र खीचड़ के निजी कार से सीकर से जयपुर आते समय हैड कांस्टेबल मनेन्द्र सिंह को गोली मारकर वरना कार लेकर फरार हो गए थे। सीकर एसपी कुँवर राष्ट्रदीप ने घटना की गंभीरता को देखते हुए एएसपी देवेन्द्र कुमार शर्मा के मार्गदर्शन व सीओ शहर विरेन्द्र शर्मा के निर्देशन मे थाना रानोली, उद्योग नगर, लक्ष्मणगढ़, रामगढ़ सेठान, डीएसटी व साईबर सैल से टीमों का गठन किया। जयपुर की सीएसटी भी साथ थी।

*बीकानेर की तरफ भागने की सूचना पर एसपी प्रीति चंद्रा ने बीकानेर पुलिस को किया अलर्ट*

विशेष टीम ने योजनाबद्व व समन्वित प्रयासोें से अभियुक्तों की तलाश प्रारंभ की। टीम ने घटनास्थल के पास से होटलो व ढाबो एवं टोल नाको पर लगे हुए सीसीटीवी कैमरो के फुटेज खंगाले। लूटी गयी गाड़ी का अन्तिम मूवमेंट बीकानेर जिले मे लखासर टाॅल क्रोस करते हुए देखा गया। इस पर बीकानेर एसपी प्रीति चंद्रा के सहयोग से बीकानेर डीएसटी को टीम में लिया गया। उसके बाद सभी टीमो ने आस पास क्षेत्र में गहनता व सूक्ष्मता से तहनीकी साधनों की सहायता लेते हुए आरोपियान की तलाश शुरू की। संदिग्धों से पूछताछ से पता चला कि घटना के बाद आरोपी सांवतसर में अपने रिश्तेदार सुभाष काकड़ के यहां आकर रूके थे। टीम ने सुभाष से पूछताछ कर आरोपियों के संबंध मे अन्य आसुचना जुटाई तथा आरोपियों को नामजद किया।

*जैसलमेर के नाचना गांव से पकड़े गए*

पुलिस ने तकनीकी सहायता व आसूचना संकलन के बाद बज्जू थाना क्षेत्र के जैसलमेर से लगते नाचना गांव में छिपे दोनों आरोपियों को धर दबोचा। पुलिस की टीमों ने आरोपी विक्रम व सोमदत्त को लूट गयी कार के साथ दस्तयाब कर लिया।

*जयपुर से ही गाड़ी की तलाश में थे, रास्ते मे मौका देखकर कर दी वारदात*

प्रारम्भिक जांच मे सामने आया कि गाड़ी लूट कर ये लोग लुटी हुई गाड़ी को इस्तेमाल कर फतेहाबाद हरियाणा मे कमल पंजाबी पर हुए जानलेवा हमले का बदला लेने के लिए गोरखपुर पहुंच कर शराब के देकेदार सन्नी व राजाराम पर हमले की वारदात को अंजाम देने की फिराक मे थे। दोनों जयपुर में फरारी काट रहे थे। घटना के दिन 20 जुलाई को दोनो जयपुर से गाड़ी की तलाश करते हुए रोहित होटल गोरियां पहुंचे। रात का वक्त ओर अधिक भीड़भाड़ ना होने पर उन्होंने मौका देख कर सीआई नरेन्द्र सिंह की कार को हेड कांस्टेबल मनेन्द्र सिंह पर फायर कर लूट कर ले गये।

*सीआई की गाड़ी टारगेट नही थी*

एसपी बीकानेर प्रीति चंद्रा ने बताया कि संगरिया निवासी संदेश बिश्नोई 20 जुलाई को जयपुर में था और उसने एक बाइक ओर एक लड़के को बुलाया ओर कहा की सोम ओर विक्रम को सीकर तक छोड़ना है। जयपुर में लूट करना इनको सही नही लग रहा था। इसके बाद बाइक से सीकर के लिए निकले तो रास्ते मे होटल पर सिंगल गाड़ी खड़ी मिली तो लूट कर ली।

*इनकी रही मामले में विशेष भुमिका:-*
● सीकर डीएसटी:- प्रभारी विरेन्द्र कुमार उप निरीक्षक व कांस्टेबल हरीश कुमार, रमेश कुमार, सुरेन्द्र कुमार, राकेश कुमार ने घटना के बाद से ही सीकर से सांवतसर बीकानेर तक पहुंच कर निरंतर केम्प करके लुटी कार की अंतिम फुटेज तक पहुचने मे महत्वपुर्ण भूमिका निभायी।
● इस प्रक्रिया मे डीएसटी बीकानेर के प्रभारी पुलिस निरीक्षक सुभाष बिजारणीया, थानाधिकारी बज्जु नरेश निर्वाण, हेड कांस्टेबल दीपक यादव, कांस्टेबल वासुदेव, सवाई सिंह का विशेष योगदान रहा जिन्होने बीकानेर मे सीकर पुलिस का सहयोग करते हुए आरोपियों को नामजद करवाया व नाचना जिला जैसलमेर से दोनों अभियुक्तों को दस्तयाब किया।
———–