आमजन से अपील इस बार फिर से ईद मनाएंगे सादगी के साथ ,, मोहम्मद साहब ने फ़रमाया, जब कभी दुनिया में वबा (महामारी) फ़ैल जाये तो जो जहाँ है वही रहे यहाँ तक की मस्जिदों में भी न आये अपने घरो में नमाज अदा करे,, कोरोना महामारी को हराना है देश को बचाना है : मोहम्मद इक़बाल खान सीईओ, दी राज लक्ष्मी महिला बैंक जयपुर

249

जयपुर 11 मई2021।(निक धार्मिक ) दुनिया में फैली वबा (महामारी) को देखते हुए देश दुनिया की भलाई के लिए आईये हम सब मिलकर अहद करे इस बार ईद के लिए कोई खरीदारी नही करेगे । सरकारी निर्देशों और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए अपने घरों में ही ईद की नमाज़ की अदाईगी उलेमाओ द्वारा बताये अनुसार की जावे । इस बार ईद की शापिंग नहीं शापिंग का पैसा गरीबों की मदद में लगायेगे। ईद की खरीदारी करने से पहले जरा सोचे “ आज जब नए कपड़ो से ज्यादा देश में कफ़न बिक रहे हो तो केसे ईद मनाये “
ईद की खरीदारी करने के बदले *आप जरुरतमंदो की जरुरत पूरी करे वही असल ईद होगी जैसे- किसी परिवार को राशन देकर, किसी का काम बंद हो तो शुरू करने में मदद करे , किसी बीमार को इलाज में मदद करे I*
सादगी से मनाएं ईद I *इंसानियत का धर्म निभाये I अपने अपने घरों में ईद की नमाज़ अदा करे यही असली धर्म है क्योंकि मोहम्मद साहब ने फ़रमाया है की समझदार इंसान वो है जो दुनिया मै फैली वबा (महामारी) के समय आगे के वक़्त के लिए लोगो की भलाई व खुद के परिवार के लिए कुछ बचा कर रखे |*

जब मस्जिदों में एक वक़्त नमाज नही, जब इफ्तार पार्टी नही, जब तरावीह नही, तो शौपिंग किस लिए, पैसे बचाकर रखिये, पता नही कब हालात समान्य हो, जब हालात की वजह से रमजान में मस्जिद खाली छोड़ सकते है तो बाजार क्यों नही ?
जब हमारे हिंदू हम वतन भाई रामनवमी और हनुमान जयंती अपने घरों में रहकर मना सकते हैं ईसाई भाई गुड फ्राइडे और जैनी समाज महावीर जयंती घरों में रहकर मना सकते हैं सिख भाई बैसाखी का त्यौहार अपने घरों में रहकर मना सकते हैं और सिंधी भाई चेटीचंड अपने घरों में ही मना सकते हैं तो क्या ईद हम उनका साथ देते हुए लोगों की भलाई के लिए सबकी खुशियों का ध्यान रखते हुए पूरे देश को एकता का संदेश देते हुए हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई भाई भाई का संदेश देते हुए ईद सादगी के साथ क्यों नहीं मना सकते
इसलिए इस बार हम सब को इस महामारी को हराना है दीन और दुनिया का तकाज़ा भी यही है और देश दुनिया और आमजन की भलाई भी इसी में है । आप सभी से पुर ज़ोर अपील है कि *इस बार ईद खुद के सिर्फ खुद ही के घरो मैं सादगी के साथ मनाएंगे ।*
आप की लापरवाही से कोरोना महामारी फैली तो आप आपका परिवार, रिश्तेदार, आस पास की कॉलोनी, शहर, गांव, देश दुनिया में फैले मौत के तांडव बच्चो जवानों सभी की मौत के आप जिम्मेदार होगे ।
यही वक्त की पुकार है वक्त का तकाजा है सोचिए समझिए जानिए और लोगों को बताइए गैरजिम्मेदार लोगो पर होने वाली कानूनी कार्रवाई के लिए वह स्वयं ज़िम्मेदार होगे ।

*“घर पर रहिये सुरक्षित रहीये”*