नववर्ष पर इशिता की जिदंगी में उजियारा लेकर आई, महापौर मुनेश गुर्जर, दुर्लभ बीमारी से ग्रस्त गरीब परिवार की 8 वर्ष की बच्ची को महापौर ने लिया गोद,,

1057

जयपुर,31 दिसम्बर 2020।(निक सामाजिक) आने वाला नया साल 2021,नन्ही इशिता की जिदंगी में एक नई उम्मीद लेकर आया है।। अब जल्द ही इशिता,आम बच्चों की तरह अपनी जिदंगी जी सकेगी। इशिता की जिदंगी में महापौर मुनेश एक देवदूत की तरह आई है। महापौर नगर निगम जयपुर हैरिटेज मुनेश गुर्जर ने दुर्लभ बीमारी से ग्रसित 8 वर्षीय इषिता को गोद लिया है। अब इषिता की समस्त जिम्मेदारियां महापौर संभालेगी। इषिता के इलाज से लेकर उसके लिये कपड़े, शिक्षा, दिन प्रति दिन की अन्य आवष्यक सामग्री आदि की व्यवस्था महापौर मुनेश की और से की जायेगी।

शहर के दौरे के दौरान मिली बीमार बच्ची की जानकारीः-
महापौर मुनेश ने जब से हैरिटेज निगम में महापौर का पद संभाला है तभी से वे अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के साथ शहर के विभिन्न क्षेत्रों की सफाई, लाईट एवं अन्य व्यवस्थाओं का जायजा ले रही है और जहां कमी मिल रही है वहां तत्काल सही करवा रही है। इसी कड़ी में 30 दिसम्बर को सुबह 9 बजे महापौर रामराजपुरा काॅलोनी का निरीक्षण करने पहुंची थी। इस दौरान वहां रह रहे अनुसूचित जाति परिवार के सदस्य बनवारी लाल ने महापौर को बताया कि उसकी 8 वर्षीय मासूम बच्ची एक दुर्लभ बीमारी से ग्रसित है। उसने बताया कि आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण वे उसका इलाज करवाने में सक्षम नहीं है। उनके परिवार की स्थिति लगातार दयनीय होती जा रही है। इस पर महापौर ने उस परिवार को 31 दिसम्बर को अपने घर आमंत्रित किया और मानवीयता का परिचय देते हुये महापौर ने उस बच्ची को गोद लेने का निर्णय लिया।

    शहरवासियो ंसे अपील नववर्ष पर किसी की जिदंगी रोशन करेंः-
    महापौर ने सभी शहरवासियों को नववर्ष की शुभकामनाएं देते हुये अपील की है कि हर सक्षम परिवार/नागरिक किसी एक जरूरतमंद या असहाय की मदद का संकल्प ले ओर उसके जीवन में उजियारा लाये। महापौर ने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री की प्रेरणा से मैनें 8 वर्षीय इशिता को गोद लिया है और इसके जीवन की समस्त जिम्मेदारियों का निर्वहन मैं करूंगी।