वरिष्ठ नागरिकों के लिए विभिन्न विषयों पर ऑनलाइन सत्र आयोजित करेगी हेल्पलाइन शेयरिंग-केयरिंग -लॉकडाउन खुलने के बाद हेल्पलाइन को और प्रभावी बनाने की कवायद,,

657

अब तक हेल्पलाइन नम्बर 7428518030 पर 1300 से अधिक काल्स,,

जयपुर, 4 जून 2020।(निक विशेष) कोरोना के लॉकडाउन के दौरान जयपुर जिले के वरिष्ठजनों के लिए जिला प्रषासन एवं जे.के.लक्ष्मीपत यूनिवर्सिटी द्वारा प्रारम्भ की गई निःषुल्क हैल्पलाइन ‘‘शेयरिंग-केयरिंग’’ को लॉकडाउन खुलने के बाद और भी प्रभावी बनाया जा रहा है। अब इस हैल्पलाइन के जरिए वरिष्ठ नागरिकों के लिए उपयोगी विविध प्रकार के ऑनलाइन सत्र आयोजित किए जाएंगे।
अतिरिक्त जिला कलेक्टर (द्वितीय) एवं हेल्पलाइन के नोडल अधिकारी श्री पुरुषोत्तम शर्मा ने बताया कि बुजुर्गों के लिए समर्पित यह हैल्पलाइन अब तक काफी सफल रही है और 1300 से भी अधिक बुजुर्गों की काउंसलिंग एवं समस्याओं का समाधान कर चुकी है। अब इसमें दूसरे कदम के तौर पर यह तय किया गया है कि हैल्पलाइन द्वारा वरिष्ठजनों के लिए बहुपयोगी निःशुल्क ऑनलाइन सत्र रखे जाए। इन सत्रों में चिकित्सकों की सलाह, सरकारी योजनाओं की जानकारी विषय विशेषज्ञों द्वारा दी जाएगी। वरिष्ठजन इन सत्रों का लाभ ‘‘वेबिनार’’ से जुड़कर या फिर सोशल मीडिया के माध्यम से जुड़कर ले सकेंगे। यह सत्र इंटरेक्टिव होंगे जिसमें वे अपने प्रश्न भी रख सकेंगे। उन्होंने बताया कि ये सत्र प्रारंभ में साप्ताहिक रूप से आयोजित किये जायेंगे और फीडबैक के आधार पर धीरे-धीरे इनकी संख्या बढाई जाएगी।
यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. रोशन लाल रैना ने बताया कि हैल्पलाइन द्वारा ऑनलाइन सत्रों का आयोजन समर्थ केयर के सहयोग से किया जायेगा। इस हेल्पलाइन की जयपुर में सफलता एवं उपयोगिता को देखते हुए अब राज्य स्तर पर भी इसके संचालन की मांग आ रही है। इस हेल्पलाइन को 17 अप्रेल को जिला कलक्टर डॉ. जोगाराम द्वारा प्रारंभ किया गया था। हेल्पलाइन के समय लॉकडाउन प्रभावी होने से अधिकतर समस्याएं चिकित्सा, दवाओं एवं राशन के बारे में आती थीं परन्तु अब लॉकडाउन खुलने के बाद एवं कई तरह की छूट मिलने के बाद कॉल्स का प्रकार भी परिवर्तित हो रहा है। इसी कारण कारण यूनिवर्सिटी एवं जिला प्रशासन ने मिलकर इसमें समय के अनुसार नए प्रयोग करने का निर्णय किया है। समर्थ केयर संस्थान के सीईओ श्री गौरव अग्रवाल ने बताया कि भविष्य में ज्यादा से ज्यादा संस्थानों को इस पहल से जोड़ा जायेगा।
शेयरिंग-केयरिंग को दूसरे राज्यों से भी समर्थन
हाल ही में हेल्पलाइन पर कार्य करने वाली स्टाफ मेम्बर मंजेश के पास बम्बई से एक कॉल आया, जिसमें एक बुजुर्ग ने कार्य के लिए हेल्पलाइन की बहुत प्रशंसा की। यानी दूसरे राज्यों के बुजुर्गो ने भी इस हेल्पलाइन को नोटिस किया और बात की।

जयपुर के गोपालबाड़ी में रहने वाले 98 वर्षीय डी पी अग्रवाल कहते हैं, “मैं बहुत खुश हूं, हेल्पलाइन से बात कर ऐसा लगा कि जैसे इस मुश्किल समय में मेरा अपना कोई है, हर रोज मुझे समय देने के लिए धन्यवाद”
इसी तरह चेन्नई के रहने वाले 75 वर्षीय श्री बी राव कहते हैं, “आपकी आवाज मेरी बेटी जैसी है। मैं जब जयपुर में अकेला रह गया था और मेरा परिवार चेन्नई में था, आपने मेरी बहुत मदद की। इस सत्कार्य के लिए आप और आपकी टीम को ईश्वर आशीर्वाद प्रदान करंे’’